class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गैरसंचारी रोग के लिए नया नेटवर्क: डब्ल्यूएचओ

गैरसंचारी रोग के लिए नया नेटवर्क: डब्ल्यूएचओ

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने दुनिया में तेजी से बढ़ रहे गैरसंचारी रोगों आघात (स्ट्रोक), कैंसर, मधुमेह और हृदय रोग आदि से निपटने के लिए एक नया वैश्विक गैरसंचारी रोग नेटवर्क शुरू करने की घोषणा की है, जिसमें स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़े अंतरराष्ट्रीय संगठन और विशेषज्ञ शामिल होंगे।

डब्ल्यूएचओ की एक ताजा रिपोर्ट के अनुसार चिकित्सा क्षेत्र में भारी प्रगति के बाद भी दुनिया भर में अभी भी तीन करोड़ 80 लाख मौतें केवल गैरसंचारी रोगों के कारण होती हैं, जो विभिन्न रोगों के कारण होने वाली कुल मौतों का 70 प्रतिशत है और हर साल इनकी संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है।

डब्ल्यूएचओ के सूत्रों ने बताया कि यह नेटवर्क संचारी रोगों के नियंत्रण की दिशा में ठोस कदम उठाएगा, वैश्विक स्तर पर भागीदारी को मजबूत बनाएगा, देशों को उनकी योजनाओं में सहायता देगा तथा इन रोगों के कारण पड़ रहे भार को कम करने के लिए कार्यक्रम लागू करेगा।

गैरसंचारी रोगों के नियंत्रण के लिए डब्ल्यूएचओ से जुड़े और देश के जाने माने हदय रोग विशेषज्ञ डॉ. के श्रीनाथ रेड्डी ने  बताया कि वर्तमान समय और परिस्थितियों में गैरसंचारी रोगों के नियंत्रण के लिए ठोस और प्रभावकारी कदम उठाना नितांत आवश्यक है और नए वैश्विक गैरसंचारी रोग नेटवर्क शुरू करने की घोषणा इस दिशा में एक अच्छा कदम है। इससे निश्चित रूप से इन रोगों के नियंत्रण की दिशा में तेजी आएगी। उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया विशेष रूप से विकासशील देशों में गैरसंचारी रोग तेजी से बढ़ते जा रहे हैं।

गैरसंचारी रोगों से होने वाली कुल मौतों में 80 प्रतिशत मौतें केवल कम आय और मध्यम आय वाले देशों में होती हैं। एजेंसी ने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि गैरसंचारी रोगों को रोकने की दिशा में शीघ्र ही ठोस और प्रभावकारी कदम नहीं उठाए जाते हैं तो अगले दस सालों में गैरसंचारी रोगों से होने वाली मौतों में 17 प्रतिशत की वृद्धि हो जाएगी। अनुमान है कि इनमें सबसे अधिक मौतें अफ्रीका क्षेत्र में होगी।

डब्ल्यूएचओ के गैरसंचारी रोगों और मानसिक स्वास्थ्य के सहायक महानिदेशक डॉ. अला अल्वान का कहना है कि नए नेटवर्क शुरू करने की घोषणा से गैरसंचारी रोगों के नियंत्रण और रोकथाम पर ध्यान और अधिक बढ़ जाएगा, संसाधनों की उपलब्धिता में वृद्धि होगी और वैश्विक और सामुदायिक स्तर पर बहुआयामी ठोस कदम उठाए जाएंगे।

डब्ल्यूएचओ के सूत्रों के अनुसार इसी सप्ताह जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र आर्थिक और सामाजिक परिषद (ईसीओएसओसी) की बैठक होने जा रही है, इसमें वैश्विक जन स्वास्थ्य संकल्पों पर विचार किया जाएगा। इसमें भाग ले रहे नेता अंतर्राष्ट्रीय विकास समुदाय से गैरसंचारी रोगों को भी सहस्राब्दि विकास लक्ष्यों के निगरानी तंत्र और मूल्यांकन प्रणाली में शामिल करने की अपील करेंगे ताकि गैरसंचारी रोगों को भी गंभीरता से लिया जाए और इनके नियंत्रण पर विशेष ध्यान दिया जा सके।

गैरसंचारी रोगों की समस्या हर साल गंभीर होती जा रही है और अनेक विकसित और विकासशील देशों के लिए आर्थिक और सामाजिक चुनौती बनती जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गैरसंचारी रोग के लिए नया नेटवर्क: डब्ल्यूएचओ