class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

द. कोरिया व यूएस में तेज हुआ साइबर युद्ध

द. कोरिया व यूएस में तेज हुआ साइबर युद्ध

दक्षिण कोरिया में तीसरी बार हुए साइबर हमले ने सरकारी और निजी वेबसाइटों को या तो बंद कर दिया है या फिर बाधा पहुंचाई है। साइबर हमलों को लेकर उत्तर कोरिया या इसके समर्थकों पर आरोप लगाए जा रहे हैं।

अमेरिकी विदेश विभाग ने बताया कि अमेरिका की सरकारी वेबसाइटों के अलावा व्हाइट हाउस और पेंटागन की वेबसाइटों को इस सप्ताह साइबर हमले के तहत लक्ष्य बनाए जाने के बाद इनके बचाव की कोशिश के चौथे दिन ये वेबसाइट भी साइबर हमले की जद में आ गई हैं।

एंटी वायरस सॉफ्टवेयर बनाने वाली दक्षिण कोरिया की कंपनी एहनलैब ने ऐसे वायरस की आशंका जताई थी, जिन्होंने हाल के दिनों में अमेरिका और दक्षिण कोरिया की दर्जनों वेबसाइटों पर हमला किया था। इस वायरस ने शुक्रवार शाम छह बजे फिर अपना कहर बरपाया और सात घरेलू वेबसाइटों को निशाना बनाया।

कंपनी के एक अधिकारी ने बताया कि तीसरा साइबर हमला उनके कार्यालय की आशंका से काफी अधिक जबर्दस्त था । संसद, रक्षा मंत्रालय, विदेश मंत्रालय और राष्ट्रीय खुफिया सेवा की वेबसाइटों की गति या तो धीमी हो गई या फिर ये ठप हो गईं। दक्षिण कोरिया के सबसे बड़े बैंक कुकमिन की वेबसाइट भी बंद हो गई है। बैंक अपनी इंटरनेट बैकिंग सेवा को सामान्य बनाने की कोशिश में लगा है ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:द. कोरिया व यूएस में तेज हुआ साइबर युद्ध