class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो टूक

खबर हमें अंदर तक हिलाती है। दिल्ली की अदालत में वकीलों ने न्यायाधीश महोदय से धक्का-मुक्की और गाली-गलौज की। इंसाफ देने वाला न्यायाधीश खुद भी कभी किसी ज्यादती का शिकार हो सकता है। लेकिन जिन वकीलों के हाथ में कानून को उसके अंजाम तक पहुंचाने की ताकत है, उनसे यह उम्मीद तो नहीं की जाती कि वे कानून को अपने हाथ में लेंगे।

किसी के साथ कोई जुल्म-ज्यादती होती है तो वह वकीलों और जज की इसी व्यवस्था पर भरोसा करता है। यहां तो लगता है कि वकीलों का ही भरोसा इस व्यवस्था से उठ गया है। हो सकता है खींचतान के बाद यह विवाद सुलझ भी जाए। लेकिन आम लोगों का भरोसा उठा तो आसानी से पटरी पर नहीं आएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दो टूक