class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीएम ने की संयुक्त राष्ट्र में सुधार की मांग

पीएम ने की संयुक्त राष्ट्र में सुधार की मांग

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा है कि वर्तमान आर्थिक मंदी ने वित्तीय नियमन संबंधी हमारी कमजोरियों को उजागर किया है। साथ ही डॉ. सिंह ने संयुक्त राष्ट्र संघ को और लोकतांत्रिक बनाने के लिए सुरक्षा परिषद सहित इसमें सुधार की मांग की है।

डॉ. सिंह ने सुरक्षा परिषद की कमजोरियों को उजागर करते हुए कहा कि इसमें दो स्तरीय व्यवस्था है, इससे स्वेच्छाचारिता को बढ़ावा मिलता है और यह सुरक्षा परिषद की वैधानिकता पर भी सवाल खड़े करता है।

इसके अलावा प्रधानमंत्री ने जोर देकर कहा कि विश्व स्तर पर नए वित्तीय संरचना का गठन किया जाना चाहिए और यथाशीघ्र दोहा राउंड का भी हल निकाला जाना चाहिए। एक लेख ‘इक्कीसवीं सदी में विश्व में उभरती शक्ति के रूप में भारत की दृष्टि’ में प्रधानमंत्री ने कहा है कि भारत लगातार आतंकवाद के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखेगा और बिना किसी कोताही के इसको जड़ से मिटाने का प्रयास करेगा।

डॉ. सिंह ने आगे कहा कि विश्व स्तर पर नई वित्तीय संरचना के लिए भारत बे्रटन वुड्स संस्थाओं की पुनर्गठन के लिए निरंतर प्रयास करता रहेगा। साथ ही उन्होंने जोर दिया कि विकासवादी आयाम के साथ दोहा राउंड के व्यापारिक समझौते का हल निकाला जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि विश्व के प्रत्येक देश की अर्थव्यवस्था एक दूसरे से जुड़ी हुई है और एक पर होने वाले प्रभाव का दूसरों पर भी प्रभाव पड़ता है जैसा कि इस बार वैश्विक आर्थिक मंदी के समय हुआ।

औद्योगिक देशों के संगठन जी-8 के शिखर सम्मेलन में भाग लेने के इटली के पर्वतीय शहर लाक्विला जा रहे भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंंह मंगलवार शाम यहां पहुंच गए। सम्मेलन के दौरान जी-8 देशों के नेता आर्थिक मंदी, जलवायु परिवर्तन, ऊर्जा और खाद्य सुरक्षा पर चर्चा करेंंगे। जी-8 देशों का तीन दिवसीय शिखर सम्मलेन बुधवार से लाक्विला में शुरू होगा। सम्मेलन में अमेरिका, रूस, ब्रिटेन, फ्रांस, इटली, कनाडा, जर्मनी और जापान के नेता वैश्विक मुद्दों पर बैठक के दौरान चर्चा करेंगे।

डॉ. सिंह चीन, मेक्सिको, दक्षिण अफ्रीका और ब्राजील के साथ जी-5 सम्मेलन में भाग लेंगे। बैठक में वैश्विक आर्थिक मंदी के कारणों पर विचार किया जाएगा और साथ ही संगठन के सदस्य इस बात पर विचार-विमर्श करेंगे कि विश्व अर्थव्यवस्था को आगे ले जाने के लिए क्या कदम उठाए जाएं। भारत जी-8 के शिखर सम्मेलन में लगातार पांचवें साल शिरकत कर रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पीएम ने की संयुक्त राष्ट्र में सुधार की मांग