class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

40,000 साल पहले मनुष्य का आहार बनी थी मछली

40,000 साल पहले मनुष्य का आहार बनी थी मछली

दुनिया के कई हिस्सों में मछली प्रमुख भोजन है लेकिन यह पहेली आज तक अनसुलझी है कि आदिम युगीन मानव ने इसे नियमित भोजन का हिस्सा कब बनाया।

सेंट लुइज में वाशिंगटन विश्वविद्यालय के मानवशास्त्र विभाग के प्रोफेसर एरिक ट्रिंकॉस के नेतृत्व में कराए गए एक नए अध्ययन में कहा गया है कि ऐसा लगता है कि करीब 40,000 साल पहले चीन में पहली बार ऐसा हुआ होगा।

एक प्रोटीन के रासायनिक विश्लेषण से इस बात की तह तक पहुंचा जा सकता है कि मछली कभी-कभार खाई जाती थी या यह नियमित भोजन का हिस्सा था।

एशिया के 40,000 साल पुराने एक मानव कंकाल की हड्डियों के विश्लेषण से पता चलता है कि कम से कम वह व्यक्ति तो नियमित रूप से मछली खाता रहा होगा।

वाशिंगटन विश्वविद्यालय की ओर से जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि यह विश्लेषण चीन में पूर्व आधुनिक मनुष्यों द्वारा मछली को आहार बनाने का पहला प्रत्यक्ष प्रमाण है। यह अध्ययन नेशनल एकेडमी ऑफ साइंसेज में प्रकाशित हुआ है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:40,000 साल पहले मनुष्य का आहार बनी थी मछली