class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ढांचा गिराने से गोरखपुर में तनाव

उत्तर प्रदेश में गोरखपुर जिले के कैन्ट थाना क्षेत्र में गोरखपुर क्लब के समीप आज एक विवादित ढांचा को जिला प्रशासन द्वारा गिरा दिए जाने से तनाव पैदा हो गया।

अल्प संख्यक समुदाय का दावा है कि यह ढांचा मस्जिद था और इससे संबंधित मामला उच्चतम न्यायालय में लम्बित है। गोरखपुर के जिलाधिकारी अजय कुमार शुक्ल ने इस बावत बताया कि उस स्थल पर डा. खालिद अब्बासी तथा अन्य द्वारा पौधा रोपण कर दिया था चूंकि वह नजूल भूमि है इसलिए पौधारोपण अवैध था अत उन पेड़ पौधों को उखाडा़ गया है। उन्होंने बताया कि वहां कोई ढांचा मौजूद नहीं था।

इसी बीच डा. अब्बासी का कहना है कि उन्होंने कोई पौधा लगाया ही नहीं था और उन पर गलत आरोप लगाया जा रहा है। बसपा के वरिष्ठ नेता डा0 अजीज अहमद ने इस घटना की तीव्र निन्दा करते हुए गोरखपुर के मंडलायुक्त पी.के.महान्ति से मांग की है कि वह दोषी अधिकारी के खिलाफ कार्यवाई करें वरना स्थिति बिगड सकती है। उन्होंने कहा कि स्थल पर गिराए गए ढांचे के सैकडों ईंट और मलवा पडे़ हुए है। उन्होंने कहा कि वर्ष 1983 से इस स्थल पर विवाद चल रहा है इसकी वजह से नमाज पढना वहां मना था लेकिन मस्जिद का भवन मौजूद था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ढांचा गिराने से गोरखपुर में तनाव