class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डॉ. श्यामा प्रसाद की प्रतिमा का माल्यार्पण, कार्यकर्त्ता घायल

सिविल अस्पताल में स्थापित डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के दौरान भाजपा की तीन महिला कार्यकर्ता बकेट क्रेन से नीचे गिर पड़ी। आठ फुट ऊंचाई से गिरने की वजह से तीनों के सिर में गम्भीर चोटें आई हैं। उन्हें वहीं अस्पताल में भर्ती कराया गया। यह हादसा, अचानक बकेट क्रेन की स्प्रिंग फेल हो जाने हुआ है। गनीमत रही कि महिलाओं से पहले भाजपा प्रदेश अध्यक्ष रमापति राम त्रिपाठी माल्यार्पण करके उसी क्रेन से उतरे थे और महिलाओं के बाद महापौर समेत क्षेत्रीय विधायकों की बारी थी। सभी बाल-बाल बच गए। क्रेन नगर निगम से मंगाई गई थी।


घटना सोमवार की सुबह साढ़े नौ बजे की । डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के जन्म दिवस पर भाजपा नगर इकाई ने सिविल अस्पताल हजरतगंज में स्थापित स्थापित डॉ. मुखर्जी की 18 फुट ऊँची प्रतिमा पर माल्यार्पण का कार्यक्रम रखा था। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रमापति राम त्रिपाठी, नगर प्रमुख डॉ. दिनेश शर्मा और लखनऊ से भाजपा के सभी विधायकों क्रमश: विद्यासागर गुप्ता, सुरेश तिवारी, सुरेश श्रीवास्तव समेत बड़ी संख्या में कार्यकर्ता आए थे। सबसे पहले प्रदेश अध्यक्ष ने माल्यार्पण किया। उसके बाद भाजपा नगर महिला मोर्चा की महामंत्री वीना गुप्ता, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य और उदयगंज निवासी पुष्पा सिंह चौहान और बड़ी जुगौली निवासी भाजपा महिला मोर्चा की मंडल महामंत्री मंजू त्रिपाठी एक साथ क्रेन पर चढ़ गईं। माल्यार्पण करके जसे ही पाँच-छह फुट नीचे आई वसे क्रेन की स्प्रिंग टूट गई जिससे बकेट में अचानक झटका लगा। और तीनों एक साथ छिटकर जमीन पर गिर पड़ी । वहां मौजूद भाजपा कार्यकर्ताओं ने घायलों को इमरजेंसी में भर्ती कराया । चिकित्सकों की पूरी टीम भी मौके पर पहुँच गई। सीएमएस डॉ. एके चावला का कहना है कि तीनों के सिर में टांके लगाए गए हैं। सीटी स्कैन भी कराया गया है। एक-दो दिनों में उनकी हालत सामान्य हो जाएगी । इस बीच घायलों घायलों को देखने के लिए बड़ी संख्या में भाजपा नेता सिविल अस्पताल पहुंचे। विधायक विद्यागर गुप्ता भाजपा युवा मोर्चा के अकील चौधरी, शिव शंकर शर्मा काफी देर तक समर्थकों के साथ अस्पताल में मौजूद रहे। भाजपा नगर अध्यक्ष के मुताबिक क्रेन में अचानक मैकेनिकल फाल्ट आने से हादसा हुआ है। 

18 फुट ऊंची प्रतिमा


सिविल अस्पताल परिसर में स्थापित डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा काफी ऊंचाई पर है। तीन-चार फुट के चबूतरे और छह फुट के सपोर्ट पर लगभग आठ फुट ऊंची प्रतिमा खड़ी की गई है। यानी कुल मिलाकर ऊंचाई लगभग 18 फुट पड़ती है। प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के लिए कोई सीढ़ी नहीं लगी है,जिसकी वजह से नेतागण क्रेन के जरिए ही ऊपर जाकर फूल मालाएं पहनाते हैं। साल भर में कम से कम दो बार यहाँ माल्यार्पण कार्यक्रम होता है। बीते 23 जून को डॉ.मुखर्जी के शहीदी दिवस पर भी एक ऐसा ही कार्यक्रम आयोजित किया गया था जिसमें सांसद लालजी टंडन और महापौर डॉ. दिनेश शर्मा ने एक ही क्रेन से ऊपर जकर माल्यार्पण किया था। क्रेन भी नगर निगम से ही मंगाई गई थी। भाजपा नगर अध्यक्ष प्रदीप भार्गव का कहना है कि समारोह नगर इकाई द्वारा आयोजित किया जाता है। आमतौर पर नगर निगम से बकेट क्रेन मंगा ली जाती है। उसी के जरिए माल्यार्पण किया जाता है। उनका कहना है कि कार्यक्रम के सम्बंध में जिला प्रशासन को सूचना दी जाती है।


प्रतिमा पर लगेगी छतरी, कार्यकर्ता गले में माल्यापर्ण नहीं करेंगे


हादसे के बाद भाजपा कार्यकर्ता, प्रतिमा के गले में माल्यार्पण नहीं करेंगे। केवल चरणों पर फूल चढ़ाए जाएंगे। पूर्वी विधान सभा क्षेत्र के विधायक विद्यासागर गुप्ता का कहना है कि प्रतिमा काफी ऊंची है। कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। सोमवार को सभी बड़े नेता बाल-बाल बचे। इसे देखते हुए प्रतिमा पर छतरी लगाई जाएगी। कोशिश यही होगी कि कोई भी कार्यकर्ता प्रतिमा के गले में फूल माला डालने के लिए ऊपर न जाए। नीचे ही पुष्पांजलि की जा सकती है। इस आशय का प्रस्ताव जल्द ही पार्टी की बैठक लाया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:डॉ. श्यामा प्रसाद की प्रतिमा का माल्यार्पण, कार्यकर्त्ता घायल