class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राष्ट्रमंडल खेलों के लिए बजट आवंटन में जबर्दस्त इजाफा

राष्ट्रमंडल खेलों के लिए बजट आवंटन में जबर्दस्त इजाफा

राजधानी दिल्ली में अगले वर्ष होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों की तैयारियों को तेज करने के मकसद से केन्द्रीय बजट में कुल 3472 करोड¸ रुपए का आवंटन किया गया है।

वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी ने सोमवार को लोकसभा में वर्ष 2009-10 का आम बजट पेश करते हुए राष्ट्रमंडल खेलों के लिए बजट का आवंटन बढ़ाकर 3472 करोड़ रुपए करने का प्रस्ताव किया। इससे पहले अंतरिम बजट में राष्ट्रमंडल खेलों के लिए 2112 करोड़ रुपए का बजट आवंटन किया गया था।

मुखर्जी ने कहा कि राष्ट्रमंडल खेलों से देश को एक उभरती हुई एशियाई ताकत के रूप में हमारी क्षमता को प्रदर्शित करने का अवसर मिलेगा।

राष्ट्रमंडल खेलों के मद में सबसे अधिक 2264 करोड़ रूपए का हिस्सा खेल एवं युवा मामलों के मंत्रालय को मिला है। इसके तहत भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) स्टेडियमों के सुधार, टीमों की तैयारी और आयोजन स्थलों के विकास एवं उन्नयन पर खास ध्यान दिया जाएगा।

इसके अलावा एंटी डोपिंग गतिविधियों के लिए भी बजट में 16.75 करोड़ रूपए का प्रावधान किया गया है। इसमें राष्ट्रीय डोप परीक्षण प्रयोगशाला, राष्ट्रीय एंटी डोपिंग एजेंसी और विश्व एंटी डोपिंग एजेंसी के विकास पर विशेष बल होगा।

बजट में ग्रामीण स्तर पर खेल गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए पंचायत युवा क्रीडा एवं खेल अभियान के लिए भी 145 करोड़ रूपए का प्रावधान किया गया है। लेकिन अजरुन पुरस्कार समेत अन्य खेल पुरस्कारों के मद में अधिक बढ़ोत्तरी नहीं की गई है।

केंद्रीय खेल एवं युवा मामलों के मंत्री मनोहर सिंह गिल ने बजट प्रस्तावों पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि वित्त मंत्री ने राष्ट्रमंडल खेलों को पूरा समर्थन दिया है। इसके अलावा ग्रामीण इलाकों में खेल गतिविधियों को भी प्रोत्साहन दिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राष्ट्रमंडल खेलों के लिए बजट आवंटन में जबर्दस्त इजाफा