class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार को बजट में एक पैसे की मदद नहीं: जद(यू)

जनता दल (यू) ने बिहार के लिए इस बजट में कोई पैकेज या राहत नहीं दिए जाने पर संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार की तीखी आलोचना की है और इसे (भेदभाव वाला) बजट बताया है।


पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं राज्य सभा सदस्य शिवानंद तिवारी ने से कहा कि वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी ने पश्चिम बंगाल मे आए तूफान आईला से राहत के लिए एक हजार करोड़ रुपए की घोषणा की है जबकि बिहार में कोशी से आई भयानक बाढ़ से राहत के लिऐ एक पैसे की भी घोषणा नहीं की।


 उन्होंने कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 14 हजार 808 करोड़ रुपए की मांग की थी पर बजट में मुखर्जी ने एक पैसे की भी सहायता नहीं की जबकि मुंबई में बाढ़ की रोकथाम के लिऐ 500 से 2000 करोढ़ रुपए तक के मदद की घोषणा की।


 उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने बिहार को आंतरिक उपनिवेश बनाकर छोड़ दिया है। इस सरकार से यह कल्पना नहीं की जा सकती थी कि वह इस तरह का सौतेला व्यवहार बिहार के साथ करेगी। यह सरासर अन्याय है और यह चिन्ता की बात है कि केंद्र एक तरफ तो विकास दर बढ़ाने की बात करता है और दूसरी ओर बिहार के आर्थिक पिछड़ेपन को दूर करने के लिए कोई कदम नहीं उठाया है।


 उन्होंने कहा कि बिहार को विशेष श्रेणी का दर्जा दिए जाने की मांग भी केंद्र सरकार के पास लंबित है।  उससे उम्मीद की जा रही थी कि वह बिहार के लिए कोई न कोई आर्थिक पैकेज देता, जिसमें राज्य का विकास हो। जब बिहार का विकास दर नहीं बढे़गा, तब तक देश का विकास दर भी नहीं बढ़ेगा। लेकिन मनमोहन सिंह की सरकार बिहार के प्रति उपेक्षा का भाव बनाए हुए है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिहार को बजट में एक पैसे की मदद नहीं: जद(यू)