class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आम बजट पर बिहार में महिलाओं की मिलीजुली प्रतिक्रिया

बिहार की महिलाओं का मानना है कि लोकसभा में सोमवार को पेश आम बजट में कुछ भी खास नहीं है। कुछ ने महिला शिक्षा को बढ़ावा देने के सरकार के प्रस्ताव का स्वागत किया है तो कुछ ने महिलाओं के लिए बजट में किसी खास योजना का प्रस्ताव नहीं होने पर निराशा भी जताई हैं।

पटना के बोरिंग रोड़ मुहल्ले की गृहिणी श्वेता का कहना है कि आम बजट में महिलाओं में तीन वर्षों में निरक्षरता की दर आधा करने का प्रस्ताव अवश्य किया गया है परंतु महिलाओं के लिए रोजगार की विशेष योजना का उल्लेख नहीं किया गया है।

पटना की चिकित्सक डा.प्रियांकी मिश्रा का मानना है कि आम बजट में महिला शिक्षा के लिए विशेष योजना बनाने की बात कही गई है जो स्वागतयोग्य है परंतु महंगाई रोकने के लिए कोई ध्यान नहीं दिया गया है। उन्होंने महिलाओं के लिए आयकर की सीमा बढ़ाए जाने की भी प्रशंसा की।

कंकड़बाग मुहल्ले की गृहिणी अमिता सिंह का कहना है कि बजट से आम लोगों को कोई फयदा नहीं होगा। उन्होंने कहा कि मोबाइल फोन, एलसीडी टीवी, जीवन रक्षक दवाइयां अवश्य सस्ती की गई है परंतु सूती कपड़ा तथा गहने महंगे कर दिए गए है। उन्होंने कृषि के लिए घोषित कई योजनाओं के लिए भी सरकार के आम बजट की तारीफ  की।

एक सामाजिक संस्था की सचिव संध्या सिंह ने राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना के लिए राशि बढ़ाए जाने तथा शहरी इलाकों के गरीबों के लिए आवास योजना प्रारंभ करने का स्वागत किया हैं परंतु महिलाओं के लिए रोजगार उपलब्ध कराने का बजट में कोई खुलासा नहीं करने की आलोचना भी की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आम बजट पर बिहार में महिलाओं की मिलीजुली प्रतिक्रिया