class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सालाना 1.2 करोड़ नई नौकरियां, कर ढांचे होंगे सरल

सालाना 1.2 करोड़ नई नौकरियां, कर ढांचे होंगे सरल

वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी ने वर्ष 2009-10 के लिए बजट पेश करते हुए कहा कि सरकार उच्च विकास दर हासिल करने और देश के युवाओं की इच्छाओं को पूर्ण करने के लिए हर संभव कदम उठाएगी। उन्होंने कहा कि कर ढांचों को भी सरल बनाया जाएगा।

बंद गले का सफेद सूट पहने 73 वर्षीय मुखर्जी ने कहा कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) की सरकार एक ऐसे एजेंडे पर आगे बढ़ रही है जिससे कि हर साल 1.2 करोड़ नई नौकरियां पैदा करने के अलावा वर्ष 2014 तक गरीबी को घटाकर आधी की जा सके।

उन्होंने वैश्विक वित्तीय संकट के कारण विकास की दर में आई गिरावट के संदर्भ में कहा कि सरकार चुनौतियों को स्वीकार करती है। वित्तीय संकट के कारण देश की विकास दर नौ प्रतिशत के उच्च स्तर से गिरकर बीते वित्त वर्ष में 6.7 फीसदी हो गई थी। उन्होंने कहा कि अब आर्थिक स्थिति में सुधार के संकेत दिखने लगे हैं।

सरकार आगामी चार वर्षों में कर ढांचे को सरल बनाने की दिशा में भी काम करेगी। यह बात वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी ने सोमवार को लोकसभा में वित्त वर्ष 2009-10 का आम बजट पेश करते हुए कही। उन्होंने कहा कि आयकर विभाग से भी सरल-2 नाम से सरल फार्म का आसान रूप इस्तेमाल करने को कहा गया है।

वित्त मंत्री वर्ष 2009-10 का आम बजट पेश करते हुए कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों का नियंत्रण सरकार के हाथों में बनाए रखने के साथ ही उनमें विनिवेश किया जाएगा। उन्होंने कहा कि बैंकिंग और बीमा जैसे क्षेत्रों की कंपनियों में सरकार अपनी रणनीतिक हिस्सेदारी बनाए रखने के साथ ही उन्हें वैश्विक स्तर पर प्रतिस्पर्धी बनाने के लिए पूंजीगत मदद देगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सालाना 1.2 करोड़ नई नौकरियां, कर ढांचे होंगे सरल