class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अंबानी बंधुओं का झगड़ा पहुंचा सुप्रीम कोर्ट

अंबानी बंधुओं का झगड़ा पहुंचा सुप्रीम कोर्ट

कृष्णा-गोदावरी बेसिन से गैस आपूर्ति विवाद पर अनिल अंबानी के सुप्रीम कोर्ट में जाने के एक दिन बाद बड़े भाई मुकेश अंबानी ने भी शनिवार को सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटाखटाया तथा मुंबई शीर्ष न्यायालय के गत 15 जून के फैसले के खिलाफ विशेष याचिका दायर की।

मुकेश की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज ने अपनी याचिका में मुंबई हाई कोर्ट के अधिकार क्षेत्र को चुनौती दी है। सूत्रों के अनुसार कंपनी की दलील है कि एक कंपनी न्यायालय के रूप में सुनवाई करते समय हाई कोर्ट को यह अधिकार नहीं है कि वह समूह विभाजन से बनी कंपनी जिसे शेयरधारकों ऋणदाताओं और न्यायालय की स्वीकृति प्राप्त है उसकी पुनर्गठन योजना में फेरबदल करे।

मुकेश अंबानी समूह का आरोप है कि हाई कोर्ट के फैसले में गैस की मात्रा, आपूर्ति अवधि और उसके मूल्य इन तीनों मुद्दों के बारे में स्पष्टता नहीं है। उल्लेखनीय है कि उच्च न्यायालय ने दोंनों भाईयों की कंपनियों के बीच विभाजन के समय हुए समझौते के मुताबिक अनिल समूह की कंपनी रिलायंस नेचुरल रिसोर्सिज लिमिटेड (आरएनआरएल) को 2.34 डॉलर प्रति दस लाख मीट्रिक ब्रिटिश थर्मल यूनिट (एमएमबीटीयू) की दर से 2.80 करोड़ घनमीटर प्रतिदिन गैस आपूर्ति करने का निर्देश दिया था।

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड से जुडे¸ सूत्रों के मुताबिक केजी बेसिन के छह ब्लॉक में कंपनी केवल ऑपरेटर है, उसकी मालिक नहीं है। इस ब्लॉक पर सरकार और कंपनी के बीच उत्पादन भागीदारी अनुबंध पर हस्ताक्षर किए गए हैं इस प्रकार यहां से गैस आपूर्ति पर होने वाले किसी भी समझौते में सरकार की भी भागीदारी होनी चाहिए।

उसके बिना कंपनी गैस आपूर्ति पर कोई समझौता नहीं कर सकती। उधर, अनिल अंबानी समूह की आरएनआरएल कंपनी शुक्रवार को ही सुप्रीम कोर्ट में पहुंच चुकी थी। उसने बम्बई हाई कोर्ट फैसले पर मुकेश समूह द्वारा अमल नहीं किए जाने का मामला वहां रखा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अंबानी बंधुओं का झगड़ा पहुंचा सुप्रीम कोर्ट