class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

माइकल जैक्सनः पॉप संगीत के बादशाह का सफर

माइकल जैक्सनः पॉप संगीत के बादशाह का सफर

माइकल जैक्शन एक महान गायक, संगीतकार और डांसर रहे उनके हुनर ने उन्हें जितनी ही ख्याति दी और लोगों को उनसे प्यार करने को मजबूर किया उनकी निजी जिन्दगी ने उनके प्रति लोगों के नजरिये को उतना ही बिगाड़ा व नफरत करने के उतने ही ज्यादा मौके दिए। जो भी बेहद उथल-पुथल और विवादों भरी उनकी निजी जिंदगी के बावजूद लोगों में उनकी दीवानगी इस कदर है कि अभी भी उन्हें विश्वास ही नहीं हो रहा कि उनका पसंदीदा सितारा अब इस दुनिया में नहीं रहा।

जैक्सन पॉप की दुनिया के बेताज बादशाह के नाम जाने जाते रहे हैं। उन्होंने गुरुवार 25 जून को 50 वर्ष की उम्र में आखिरी सांस लेते हुए इस दुनिया को अलविदा कह डाला। उनकी मौत के साथ ही पॉप म्यूजिक व डांस के उस युग का अंत हो गया, जिसके वे जन्मदाता थे। उनके साथ की तीन पीढि़यां उनके संगीत के जादू के साथ बड़ी हुई। अश्वेत पहचान के साथ जन्मे इस शख्स ने यह भी साबित करके दिखाया कि अश्वेत भी सेलेब्रिटी हो सकते हैं और जूनून किसे कहते हैं यह भी लोगों को समझाया। इस दुनिया में उनके लाखों -करोड़ों प्रशंसक हैं। ऐसे महान कलाकार की जिंदगी के कुछ खास पहलूओं पर एक नजर।

एक बाल कलाकार से ग्लोबल सुपरस्टार बनने वाले माइकल जैक्सन के जीवन में वाहवाही और बदनामी दोनों में से किसी की कमी नहीं रही। महज 7 वर्ष की उम्र में उन्होंने जैक्सन फाइव पॉप ग्रुप से अपने कॅरियर की शुरुआत की जो कि उनके भाई का था। उसमें वह टैम्बोरिन और बौंगो बजाते थे। धीरे-धीरे माइकल जैक्सन अपनी जगह बनाते हुए आकर्षण का केंद्र बनते चले गए। यह बात है 1964 की। इस ग्रुप ने अपना पहला एलबम आई वॉन्ट यू बैक के नाम से 1969 में रिलीज किया था। जिसे काफी सफलता मिली थी। इस वक्त जैक्सन की उम्र महज 11 वर्ष थी। एबीसी, द लव यू सेव और आई विल बी देयर के नाम से कई हिट गीत दिए और सफलता का यह सफर पूरे 6 वर्ष तक चला। समय गुजरा और जैक्सन भाइयों ने वर्ष 1975 में मोटाउन रिकॉर्ड कंपनी को छोड़ने का फैसला लिया और सीबीएस के साथ एक बेहतरीन करार किया। जिसके कारण मोटाउन ने जैक्सन फाइव बैंड पर केस करते हुए उसे अदालत में खींचा और दो करोड़ अमेरिकी डॉलर का हर्जाना मांगा।

लेकिन साल 1978 उनके लिए टर्निंग पांईट साबित हुआ जब वह म्यूजिक प्रोड्यूसर क्वींसी जोन्स से मिले। माइकल ने क्वींसी जोन्स से कहा कि वह उनका नया सोलो (एकल) अलबम प्रोड्यूस करें। जिसका नतीजा था डिस्को क्लासिक- ऑफ द वॉल। इस एलबम की एक करोड़ कॉपियाँ बिकीं थी। इस एलबम में जैक्सन का मशहूर गाना डॉन्ट स्टॉप टिल यू गेट एनफ और रॉक विद यू भी था।

1982 माइकल के लिए स्वर्णिम युग साबित हुआ। यही वो वक्त था जब माइकल जैक्सन के एलबम थ्रिलर ने नया इतिहास रचा। गौरतलब है इस एलबम के नौ में से सात गाने जबरदस्त हिट साबित हुए। इसके बाद माइकल जैक्सन कहां रुकने वाले थे, उनका तो जन्म ही लोगों के दिलों पर राज करने के लिए हुआ था। ये एलबम अब तक का सबसे अधिक बिकने वाला एलबम है। पॉप गाने की मार्केटिंग कैसे की जाती है यह भी इसी एलबम से उन्होंने दुनिया को दिखलाया। माइकल जैक्सन ने थ्रिलर एलबम के लिए एक नए अंदाज में 14 मिनट का वीडियो पांच लाख अमेरिकी डॉलर में शूट कराया था। उस वक्त उनके मैनेजर और रिकार्ड कंपनी उनसे बिल्कुल भी सहमत नहीं थी। लेकिन माइकल ने साहसिक फैसला लेते हुए इसे पूरा किया। उस वक्त इसे जबरदस्त सफलता मिली थी।

वर्ष 1984 में लॉस ऐंजिल्स स्थित श्राइन आडिटोरियम में पेप्सी के एक विज्ञापन की शूटिंग के दौरान घटी एक दुर्घटना ने भी उनकी लोकप्रियता काफी बढ़ा दी। कन्सर्ट के दौरान हजारों दर्शकों के सामने उनके बालों में अचानक आग लग गई थी। इस दुर्घटना में वह गंभीर रूप से जल गए थे। पेप्सी ने इस एवज में जैक्सन को मोटी धनराशी दी। इस धनराशी में से जैक्सन ने 1.5 मिलियन डॉलर केलिफोर्निया के ब्रॉटमैन मेडिकल सेंटर को दिए जहां उनका इलाज हुआ था। मेडिकल सेंटर ने माइक्ल जैक्सन के सम्मानस्वरूप अपने उस वार्ड का नाम "माइक्ल जैक्सन बर्न सेंटर" रख दिया। इसके बाद उसी वर्ष मई माह में अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति रोनाल्ड रीगन ने जैक्सन को व्हाईट हाऊस में उनकी शराब व नशीले पदार्थों के आदी लोगों को इस आदत से छुटकारा पाने में की गई सहायता के लिए सम्मानित किया था।

उसी दौरान उनके बारे में एक निजी अखबार ने लिखा कि वह ऑक्सीजन के टेंट में सोते हैं और एलिफैंट मैन जॉन मेरिक की निशानियां खरीदना चाहते हैं। उसी के बाद से उनका नाम वैको जैको पड़ा। इसके तुरंत बाद जैक्सन ने अपना नया रिसोर्ट खरीदा। इस रिसोर्ट में चिड़ियाघर के साथ-साथ और तमाम सुख-सुविधाएं मौजूद थी।

1987 में आए बैड के वीडियो ने माइकल जैक्सन को बहुत ही ज्यादा सुर्खियां दी। उनका साफ चेहरा देखकर यह अफवाहें उड़ाई गई कि उन्होंने प्लास्टिर सर्जरी करवाई है। लेकिन इससे माइकल जैक्सन की लोकप्रियता पर कोई खास असर नहीं पड़ा। बैड की तीन करोड़ से ज्यादा प्रतिया उस समय बिकीं। इस एलबम के बाद जैक्सन ने अपना पहला सोलो टूर किया। बैड का कंसर्ट काफी भव्य रहा। लंदन के वेम्बली में सात शो हुए। जिसमें में से एक शो में प्रिंस चार्ल्स और डायना भी मौजूद थे। इस टूर के दौरान माइकल जैक्सन ने अपनी आत्मकथा लिखी और उसमें यह राज खोला कि इतनी शोहरत के बावजूद वह अपने को दुनिया में अकेला महसूस करते हैं।


जैक्सन ने एक फिल्म "मूनवॉकर" भी रिलीज की, जिसमें उनके म्यूजिक वीडियो में बच्चों जैसी कल्पनाएं और सपनीले दृश्य भी शामिल थे।

माइकल जैक्सन के ऊपर यौन शोषण का आरोप भी लगा। यह परिवार था 11 वर्षीय जॉर्डी चैंडलर का। परिवार ने माइकल जैक्सन पर आरोप लगाया कि उन्होंने चैंडलर का यौन शोषण किया है। माइकल जैक्सन ने इन आरोपों को एक सिरे से नकारा लेकिन इसके बावजूद लॉस एंजेलिस पुलिस ने उनके घर पर छापा मारा। उस समय जैक्सन सुदूर पूर्व देशों के दौरे पर गए हुए थे। बाद में अदालत के बाहर उन्होंने चैंडलर के परिवार से दो करोड़ अमेरिकी डॉलर में समझौता किया।

1994 में माइकल जैक्सन ने मशहूर पॉप सिंगर एलविस प्रिसले की बेटी लिसा मैरी प्रिसले से शादी की। आलोचक ये मानते हैं कि अपनी छवि को बेहतर बनाने के प्रयास में उन्होंने यह शादी की। लेकिन दुर्भाग्य से यह शादी नहीं चल पाई और 19 महीने बाद ही दोनों में तलाक हो गया।

1997 में माइकल जैक्सन को रॉक एंड रोल हॉल ऑफ फेम में शामिल किया गया। उसी वर्ष उन्होंने नर्स डेबी रोव से शादी की और बताया कि डेबी उनके बच्चे की मां बनने वाली हैं। डेबी से उनके दो बच्चे हैं प्रिंस माइकल और बेटी पेरिस माइकल कैथरिन। वर्ष 1999 में माइकल जैक्सन का डेबी से भी तलाक हो गया। लेकिन दोनों बच्चे उनके पास ही रहे। लम्बे अंतराल बाद लगभग छह साल बाद आया उनका एलबम इन्विंसिबल छह हफ़्ते भी नहीं चला।

इस बीच उनकी निजी जिंदगी विवादों के बीच घिरने लगी। उस समय उनकी काफी आलोचनाएं हुई जब उन्होंने अपने 11 महीने के बच्चे प्रिंस माइकल-2 (ब्लैंकेट) को होटल की खिड़की से झुलाने की कोशिश की। एक टीवी डॉक्यूमेंट्री में उन्होंने बच्चों के साथ सोने की बात स्वीकार की और कहा- आप उनके साथ क्यों नहीं सो सकते हैं। किसी के साथ सोना सबसे प्यारी चीज है।

2003 उनके लिए परेशानियों व आरोपों का साल रहा। इसी साल उन पर 14 साल के बच्चे गेविन अरविजों के साथ दुर्व्यवहार का आरोप लगा। उनकी गिरफ्तारी के वारंट भी जारी किए गए। पुलिस ने उनको गिरफ्तार करने के लिए उनके रिसोर्ट पर छापा भी मारा। माइकल जैक्सन ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण किया और उन्हें हथकड़िया पहनाई गईं। पांच महीने तक चली अदालती कार्रवाई के बाद उन्हें निर्दोष करार दिया गया। अदालती कार्रवाई और दिवालिया होने की अफवाहों के बीच माइकल जैक्सन दुबई चले गए।

2009 में अपने कमबैक कंसर्ट की घोषणा से एक बार फिर माइकल जैक्सन ने सुर्खियां बटोरीं। उन्होंने घोषणा की कि वे 50 शो करेंगे और लंदन में उनका आखिरी शो होगा। उनका ये शो जुलाई में होने वाला था। लेकिन अपने इस शो से पहले ही उनकी मौत हो गई और एक सुपर स्टार हमारी आंखों को नम छोड़ गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:माइकल जैक्सनः पॉप संगीत के बादशाह का सफर