class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

युवा और टैक्स

- अकसर ऐसा देखा जाता है कि युवा निवेश की प्लानिंग करने के चक्कर में टैक्स की कारगर योजना बनाने से चूक जाते हैं। इसलिए जरूरी है कि मिलने वाली सेलेरी की संरचना क्या है, उसे देखने के बाद टैक्स बचाने की योजना पर काम शुरू करें।

-  ये जांच ले कि आपकी सेलेरी में मिलने वाला कितना हिस्सा आयकर से मुक्त है। इसे आप किसी फाइनेंशियल प्लानर और ऑनलाइन साइट की मदद से पता कर सकते हैं।

- टैक्स से बचने के लिए आपको कितना निवेश करना पड़ेगा, इसकी भी तसदीक कर लें। टैक्स बचाने के मुफीद विकल्पों को अपनी निवेश क्षमतानुसार चुनें।

- बाजार में आज के दौर में हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी की भरमार है। हेल्थ पॉलिसी  लेने के दो फायदे हैं। पहला जहां स्वास्थ्य सही न होने पर आपको क्लेम का भुगतान होगा, साथ ही यह आपको टैक्स के दायरे से भी बचाने में भी मददगार साबित होगा।

- जितनी कम उम्र में आप हेल्थ पॉलिसी करा लेंगे उतना ही यह आपके लिए फायदेमंद होगा, क्योंकि उम्र बढ़ने के साथ इन पॉलिसी के लिए अदा किए जाने वाले प्रीमियम की रकम बढ़ जाती है।

- आपकी प्रॉपर्टी है तो किसी अनिष्ट से बचने के लिए उसका इंश्योरेस करा लें और अगर आप किराए पर रहते हैं तो आप रेंटल इंश्योरेंस करा सकते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:युवा और टैक्स