class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उग्रवादी संगठन दीमा हलम दाओगा पर प्रतिबंधित

असम में हत्या, अपहरण, फिरौती सहित हिंसा की सिलसिलेवार घटनाओं के लिये जिम्मेदार माने जाने वाले उग्रवादी संगठन दीमा हलम दाओगा (डीएचडी) या ब्लैक विडो के खिलाफ केंन्द्र ने सख्त कार्रवाई करते हुए उसे प्रतिबंधित कर दिया है।


आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की अध्यक्षता में गुरुवार शाम हुई मंत्रिमंडलीय समिति की बैठक में गैरकानूनी गतिविधि निरोधक कानून के तहत ज्वेल गारलोसा के नेतृत्व वाले डीएचडी को अवैध घोषित कर दिया गया।
     

यह कदम असम के उत्तरी कछार हिल्स जिले में हिंसा की कई घटनाओं में डीएचडी के शामिल रहने को लेकर उठाया गया है। यहां इस संगठन ने सरकारी अधिकारियों के अलावा व्यवसायियों और रेलवे संपत्ति को निशाना बनाया है। इस संगठन के शीर्ष नेतृत्व को नाकाम करने में सुरक्षा बलों ने बहुत बड़ी सफलता हासिल की है। संगठन दिमासा कबीले के लिये अलग प्रदेश की मांग कर रहा है।
    

वहीं, तीन जून को असम पुलिस ने कर्नाटक पुलिस की सहायता से गारलोसा और डीएचडी के उप कमांडर इन चीफ पार्था वारिसा को बेंगलूर में गिरफ्तार कर लिया था। सुरक्षा बलों ने इस संगठन के स्वयंभू विदेश सचिव फेंकी दिमासा को गुवाहाटी में मार गिराया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उग्रवादी संगठन दीमा हलम दाओगा पर प्रतिबंधित