class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बच्चों ने मुझे धैर्यवान बनायाः मोर्टन

बच्चों ने मुझे धैर्यवान बनायाः मोर्टन

मौजूदा वनडे सीरीज में भारतीय गेंदबाजों के लिये सिरदर्द बने वेस्टइंडीज के सलामी बल्लेबाज रूनाको मोर्टन ने कहा है कि अब वह क्रीज पर पहले से अधिक शांत महसूस करते हैं और यही उनकी कामयाबी का राज है। मोर्टन ने पहले दो मैचों में 42 और नाबाद 85 रन बनाये।

मोर्टन ने कहा कि पिता बनने के बाद जिम्मेदारियों के अहसास के कारण वह अधिक एकाग्र और संयमित हुए हैं। उन्होंने कहा कि मैं खेल का पूरा मजा ले रहा हूं। अब पहले से अधिक शांत हूं। पिछले नवंबर में पहला बेटा होने के बाद से मुझमें धैर्य आ गया है। उन्होंने कहा कि अब मेरे दो बच्चे हैं और गलती की कोई गुंजइश नहीं है। बच्चे होने के बाद आपको उनकी खुशी के अलावा कुछ नहीं चाहिये होता है। आप नहीं चाहते कि वे भी वैसी ही बेवकूफाना गलतियां करके बड़े हों जो उनके बाप ने की थी।

मोर्टन ने कहा कि टीम में जगह पक्की करने की चिंता किये बिना वह अपने खेल पर पूरा ध्यान लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि अब मेरा काम अच्छा प्रदर्शन है। मैं टीम में अपनी जगह पक्की करने के बारे में भी नहीं सोच रहा। मैं आलोचना की परवाह नहीं करता। अब मुझ पर इसका असर नहीं होता।

मोर्टन ने यह भी कहा कि कुछ तकनीकी मसलों पर मेहनत करने के बाद उनकी बल्लेबाजी में सुधार आया है। उन्होंने कहा कि पहले मैं पगबाधा आउट हो जया करता था। अब पहले से अधिक संतुलित हूं क्योंकि सिर की हरकतों पर भी ध्यान दे रहा हूं। उन्होंने यह भी कहा कि क्रिस गेल जैसा जोड़ीदार होने के कारण उन्हें खुलकर बल्लेबाजी करने की सहूलियत मिल गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बच्चों ने मुझे धैर्यवान बनायाः मोर्टन