class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आने वाला समय मुश्किलों से भरा होगा

फरीदाबाद स्मॉल इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के अध्यक्ष राजीव चावला ने उद्यमियों को चेताया कि आने वाला समय महंगी बिजली,डीजल और प्रशिक्षित श्रमिकों के आभाव वाला होगा। ऐसे में कलस्टर उद्योग ही इसका विकल्प है। न्यूनतम लागत पर कार्य करके सफलता का मूलमंत्र हाथ लग सकता है। एसोसिएशन ने भारत सरकार के सहयोग से लीन मैन्यूफेक्चरिंग के लिए विशेष मंच तैयार किया है। जिसका उद्देश्य खर्चे कम करना और समस्याओं का समाधान करना है।


चावला फरीदाबाद स्मॉल इंडस्ट्री एसोसिएशन के मैनेजिंग फॉरेक्स वोलाटिलिटी एंड फोक्स लेटिन अमेरिकन कंट्रीज विषय पर आयोजित सेमिनार में बोल रहे थे। इस मौके पर सिडबी के महाप्रबंधक रवि मेनन ने कहा कि स्टॉक एक्सचेंज में प्रतिदिन 1.5टिलियन अमेरिकन डालर का कारोबार होता है। आम लोगों को भी इसमें निवेश करके लाभ कमाना चाहिए। उद्योग और आम जनता के रुझान को देखते हुए सिडबी ने विदेशी मुद्रा में भी कारोबार करना शुरू किया है। इसके बेहतर परिणाम सामने आए हैं। उन्होंने कहा कि विदेशी मुद्रा में टर्म लोन लेते समय हैज रिक्स का ध्यान दे। ताकि डॉलर की बढ़ती कीमत उन्हें अधिक प्रभावित न कर सके।


उन्होंने कहा कि सिडबी उद्योगों को 9.5 फीसदी ब्याज दर से ऋण दे रही है। मंदी से उभरने में अचूक सहायता है। सिडबी एक्सपोर्ट प्रमोशन के लिए भी उद्यमियों की सहायता कर रही है। इइपीसी के एए काजमी ने कहा कि लेटिन अमेरिका के ब्राजील, पेरु व अंर्जेंटीना जैसे देश 44 देशों में करीब पांच फीसदी माल की बिकता है। ब्राजील में अक्तूबर में एक प्रदर्शनी लगाई जाएगी। इस प्रदर्शन में भाग लेने वाले उद्यमियों को भारत सरकार 1.80 लाख रुपये सब्सिडी देगी। इस मौके पर रवि वासूदेवा, संदीप बतरा, डीएस भाटिया, आरके सिंघल आदि मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आने वाला समय मुश्किलों से भरा होगा