class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रो.बरार गुरूनानक देव विवि के कुलपति नियुक्त

लखनऊ विश्वविद्यालय के वर्तमान कुलपति प्रो. एएस बरार को गुरूनानक देव विश्वविद्यालय अमृतसर का कुलपति नियुक्त किया गया है। उन्हें पंजाब राजभवन की ओर से गुरूनानक देव विश्वविद्यालय का कुलपति बनने के लिए नियुक्ति पत्र गुरूवार को फैक्स के जरिए मिल गया है।

अब वह अगले पंद्रह दिनों के भीतर गुरूनानक देव विश्वविद्यालय के कुलपति का कार्यभार ग्रहण करेंगे। चर्चा है कि प्रो. एएस बरार शुक्रवार को राजभवन जाकर अपनी नई नियुक्ति की जानकारी राज्यपाल व कुलाधिपति टीवी राजेस्वर को देंगे। इसके बाद लविवि में कार्यवाहक कुलपति की नियुक्ति की जाएगी।

प्रो. बरार ने 2007 में लविवि का कार्यभार तीन साल के लिए ग्रहण किया था। उनका कार्यकाल जनवरी 2010 में खत्म हो रहा था। लेकिन इससे बीच में ही उनकी नियुक्ति गुरूनानक देव विश्वविद्यालय के कुलपति के रूप में हो गई।

प्रो. एएस बरार के पद छोड़ने के बाद माना जा रहा है कि या तो प्रति कुलपति प्रो. यूएन द्विवेदी को या फिर लविवि के सबसे सीनियर प्रोफेसर को फिलहाल कार्यवाहक कुलपति बनाया जएगा।

सीनियर प्रोफेसरों में प्रो. वीडी पाण्डेय व प्रो. एके सेनगुप्ता, प्रो. वीके टण्डन व प्रो. जीवी वशम्पायन के नामों की चर्चा है। अभी तक विश्वविद्यालयों की परम्परा के मुताबिक कुलपति के पद छोड़ने पर सबसे पहले प्रति कुलपति को ही मौका दिया जाता है अगर वह मना करे तभी सीनियर प्रोफेसरों के नाम पर विचार किया जाता है।

विश्वविद्यालय में कुलपति के पद पर किसी की स्थाई नियुक्ति में कम से कम तीन महीने का समय लगता है। इसका चयन सर्च कमेटी के माध्यम से ही किया जाता है। जिसमें एक शासन का प्रतिनिधि, एक कार्यपरिषद का प्रतिनिधि व एक हाईकोर्ट का प्रतिनिधि होता है।

यह कुलपति पद के लिए आवेदन करने वालों की पड़ताल करने के बाद नाम तय करतें हैं जिस पर अंतिम मुहर कुलाधिपति द्वारा लगाई जाती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:प्रो.बरार गुरूनानक देव विवि के कुलपति नियुक्त