class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

औपचारिकता भर रहा सांसद का दौरा, नहीं गए बवाल वाले क्षेत्रों में

जमीयत उलेमा-ए-हिन्द के एक गुट के सुप्रीमो माने जाने वाले राज्यसभा सांसद मौलाना महमूद मदनी गुरुवार सुबह मेरठ पहुंचे और यहां मात्र 45 मिनट रुककर दिल्ली के लिए रवाना हो गए। इस 45 मिनट के दौरे में सांसद ने एक मस्जिद में खुद नमाज पढ़ाई, फिर शहर विधायक के घर जमाती प्रकरण को लेकर कुछ गुफ्तगू की। इसी दौरान हल्का नाश्ता किया और फिर दिल्ली के लिए रवाना हो गए।

सांसद महमूद मदनी का कार्यक्रम बुधवार रात अचानक बना। सांसद चूंकि देवबंद में थे और उन्हें गुरुवार को दिल्ली लौटना था, तो तभी उन्होंने इस बीच मेरठ के लिए अपना कार्यक्रम जमीयत पदाधिकारियों को दे दिया। जमीयत उलेमा के पदाधिकारियों के अनुसार सांसद महमूद मदनी का यहां आकर बवाल वाले क्षेत्रों का दौरा करने का कार्यक्रम भी था और इस दौरान वे पीड़ितों से भी मुलाकात कर सकते थे, पर ऐसा कुछ नहीं हुआ।

मौलाना महमूद मदनी सुबह 4 बजकर 45 पर सराय बहलीम स्थित शहर विधायक हाजी याकूब के आवास पर पहुंचे। सबसे पहले उन्होंने विधायक के घर के सामने स्थित छोटी मस्जिद में फर्ज की नमाज खुद पढ़ाई और उसके बाद विधायक आवास पर याकूब कुरैशी के पुत्र इमरान कुरैशी से जमाती प्रकरण व उसके बाद हुए बवाल पर गुफ्तगू की।

इस दौरान जमीयत पदाधिकारी हनीफ कुरैशी व कारी अमीर आजम असअदी ने भी सांसद महमूद मदनी को सारी स्थिति से अवगत कराया। इन लोगों ने सांसद को बताया कि पुलिस किस प्रकार बेगुनाहों को पकड़ रही है। इस दौरान भूमिया पुल पर दुकानदारों को हुए आर्थिक नुकसान की जानकारी भी सांसद को दी गई।

सांसद ने घटनाक्रम पर अफसोस जताया। केन्द्र व यूपी सरकार को घटना की हकीकत से अवगत करा दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करवाने का आश्वासन दिया। इस बीच सांसद ने हल्का नाश्ता लिया और सुबह साढ़ पांच बजे हापुड़ के रास्ते दिल्ली के लिए रवाना हो गए।

इस अवसर पर जमीयत उलेमा के जिलाध्यक्ष मौलाना शाहबुद्दीन, महासचिव कारी आजम, हाजी हनीफ मैट्रो, हकीम व जाहिद मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:45 मिनट समीक्षा करके निकल गए मदनी