class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नोएडा, ग्रेटर नोएडा, यमुना एक्सप्रेस-वे अथॉरिटी की बोर्ड बैठक

अगर आपने नोएडा से जमीन खरीद ली है, लेकिन उसे बनवा नहीं पा रहे और उस पर सुरक्षा शुल्क देना पड़ रहा है, तो अब परेशान न हों। नोएडा अथारिटी खाली प्लॉटों पर शुल्क हटाने जा रही है। शुक्रवार को प्रस्तावित बोर्ड बैठक में इस मुद्दे पर मुहर लगने के आसार हैं। सूत्रों ने बताया कि इस शुल्क को खत्म करने के लिए यहां के उद्यमी व आवासीय लोग दबाव डाल रहे हैं। इस मुद्दे को बोर्ड बैठक में भेजा गया है। बोर्ड के मेम्बरों से राहत मिलने के आसार हैं।

नोएडा के आवंटन दरों के रिवाइज होने के भी कयास लगाए जा रहे हैं। हालांकि रेट के मामले में अथॉरिटी के अफसर किसी भी खुलासे से बचते रहे, लेकिन रीयल स्टेट की मंदी को देखते हुए आवंटन रेट बढ़ने के आसार कम ही हैं। रीयल स्टेट कारोबारियों का कहना है कि अगर अथॉरिटी ने रेट बढ़ाए, तो रीयल स्टेट बाजर की कमर टूट जाएगी। मंदी के बाद बचा-खुचा बाजार भी खत्‍म हो जाएगा। कारोबारियों ने सीईओ से आवंटन रेट न बढ़ाने की उम्मीद की है।

नए सर्वे से एक फिर झुग्गीवासियों को अथॉरिटी से तोहफा मिलने की आस जागी है, लेकिन यह तोहफा प्लॉट होगा या फ्लैट इस बारे में अफसर चुप्पी साधे हुए हैं। बोर्ड मेम्बरों को इस मामले में कुछ ठोस निर्णय लेने होंगे। आवासीय योजना 2001 के आवंटियों को प्लॉट व 2006 का ड्रा की तिथि तय करने के लिए भी मादापच्ची करनी होगी। पार्क के नीचे पार्किग व उद्यमियों को राहत की सौगात मिलने के आसार हैं। नोएडा के साथ ही ग्रेटर नोएडा के सीईओ का पदभार संभालने के बाद मोहिंदर सिंह पहली दफा दोनों का जिम्मा सभालेंगे। यह नोएडा की 162वीं, ग्रेटर नोएडा की 74वीं व यमुना अथॉरिटी की 30वीं बोर्ड बैठक होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नोएडा, ग्रेटर नोएडा, यमुना एक्सप्रेस-वे अथॉरिटी की बोर्ड बैठक