class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जाली वीजा बनाने वाला गिरोह गिरफ्त में

अपराध शाखा (एसओएस) अधिकारियों ने जाली वीजा मुहैया कराने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ कर छह लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें दो ट्रेवल एजेंट भी शामिल है। ये अब तक सैकड़ों लागों को अपने जल में फंसा कर लाखों कमा चुके हैं।


गिरफ्तार अभियुक्तों के नाम संजय सिंह,मौहम्मद आदिल,सैकत दास, सुरेंद्र कुमार,महफूज आलम तथ विकास कुमार जय है। सैकत दास कोलकत्ता विश्वविद्यालय से बीएससी बायोलॉजी है। यह जानकारी अपराध शाखा के उपायुक्त ने दी। उन्होंने बताया कि सूचना मिली थी कि कुछ ट्रेवल एजेंट जाली दस्तावेज जरिए नौकरी के लिए विदेश जाने वाले लोगों को प्रोक्टर ऑफ एमीग्रेट मुहैया करा रहे हैं। सूचना के आधार पर छानबीन शुरु की गई तो पता चला कि माता सुंदरी रोड स्थित सूर्या इंटरनेशनल तथा ग्लोबल ट्रेडिंग कॉरपोरशन तथा बाराखम्बा रोड स्थित ताबिस टूर एंड ट्रेवल एजेंट इस गोरखधंधे में शामिल है। जानकारी जुटाने के बाद पुलिस टीम ने ट्रेवल एजेटों के यहां छापे मारे और वहां से 39 पासपोर्ट,आठ आफिस स्टैम्प,49 खाली स्टैम्प पेपर,पांच सीपीयू,प्रिंटर तथा स्केनर सहित अन्य सामान बरामद कर छह लोगों को गिरफ्तार कर लिया। इनमें सैकत दास,विकास कुमार जय ट्रेवल एजेंट है।


पूछताछ करने पर पता चला कि यह गिरोह स्केनर के जरिए अरब देशों के ट्रेवल वीज को टेम्पर करते थे। इस गोरखधंधे में दिल्ली, कोलकत्ता तथा मुंबई स्थित पीओई कार्यालय के अधिकारियों की भूमिका की भी जांच की जा रही है

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जाली वीजा बनाने वाला गिरोह गिरफ्त में