class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वरिष्ठ पत्रकार राजेन्द्र कमल की प्राथमिक ठीक से दर्ज नहीं

बिहार विधान परिषद में सरकार ने बुधवार को स्वीकार किया कि वरिष्ठ पत्रकार राजेन्द्र कमल पर जानलेवा हमले की प्राथमिकी ठीक से दर्ज नहीं की गई।  जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के शंभु शरण श्रीवास्तव के एक तारांकित प्रश्न के जवाब में प्रभारी गृह मंत्री विजेन्द्र प्रसाद यादव ने कहा कि पत्रकार राजेन्द्र कमल पर एक फरवरी 2009 को राजधानी के कदमकुआं थाने के नाला रोड मार्ग पर जानलेवा हमला हुआ था। उन्होंने कहा कि इस सिलसिले से संबंधित थाने में एक मामला दर्ज करके जांच की जा रही है।

यादव ने कहा कि प्राथमिकी में किसी को भी नामजद अभियुक्त नहीं बनाया गया है। इस पर श्रीवास्तव ने मंत्री के बयान को गलत बताते हुए कहा कि प्राथमिकी में पांच लोगों को नामजद किया गया है। जो मंत्री के प्रतिवेदन में नहीं है। उन्होंने दर्ज प्राथमिकी की प्रति यादव को उपलब्ध कराते हुए कहा कि यह एक गंभीर मामला है और इसमें दोषी पदाधिकारियों पर कार्रवाई की जानी चाहिए।
 

इस पर प्रभारी मंत्री ने कहा कि जो प्रतिवेदन आया है उसी के आधार पर उन्होंने अपना बयान दिया है। उन्होंने इसे एक गंभीर मामला बताते हुए कहा कि जो जवाब आया है। वह गलत है और उस पर कार्रवाई की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वरिष्ठ पत्रकार राजेन्द्र कमल की प्राथमिक ठीक से दर्ज नहीं