class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अस्पताल के बाहर जन्म देने को मजबूर एचआईवी पीड़िता

उत्तर प्रदेश के अंबेडकरनगर जिले में प्रसव के लिए सरकारी अस्पताल गई एचआईवी पीड़ित एक गर्भवती महिला को अस्पतालकर्मियों ने भगा दिया। जिसकी वजह से पीड़िता को अस्पताल के बाहर बच्चे को जन्म देने के लिए मजबूर होना पड़ा।

जानकारी के मुताबिक शहर के जहांगीरगंज में रहने वाली एचआईवी पीड़िता मंगलवार को प्रसव के लिए महात्मा ज्योतिबाफुले संयुक्त जिला चिकित्सालय पहुंची तो आपातकालीन विभाग में तैनात डाक्टर एवं अन्य कर्मचारियों ने इस महिला का प्रसव कराने से इंकार करते हुए उसे वहां से चले जाने को कहा।

परिजनों के मुताबिक प्रसव पीड़ा से कराह रही पीड़िता ने अस्पताल स्टाफ से विनती की लेकिन इसके बावजूद उनका दिल नहीं पसीजा। घटना की जानकारी के बाद जिला प्रशासन ने मामले का संज्ञान लेते हुए मुख्य चिकित्साधिकारी को पीड़िता को तत्काल अस्पताल में भर्ती करने का निर्देश दिया।

जिले के मुख्य चिकित्साधिकारी लियाकत अली ने बुधवार को बताया कि अस्पताल में स्वास्थ्य विभाग की एक टीम पीड़िता की निगरानी कर रही है। फिलहाल जच्चा -बच्चा दोनों स्वस्थ हैं।

पीड़िता के आरोपों के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि यह जांच के बाद ही पता चल पाएगा। इसके आगे उन्होंने कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अस्पताल के बाहर जन्म देने को मजबूर एचआईवी पीड़िता