class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इराक से सेना वापसी ‘मील का पत्थर’: ओबामा

इराक से सेना वापसी ‘मील का पत्थर’: ओबामा

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने इराक के शहरों और कस्बों से अमेरिकी सेनाओं के हटने पर खुशी जाहिर करते हुए कहा है कि वर्ष 2012 तक सेनाओं की पूर्ण वापसी की दिशा में यह महत्वपूर्ण कदम है।

ओबामा ने मंगलवार को व्हाइट हाउस में कहा कि इस घटना ने यह सिद्ध कर दिया है कि जो शक्तियां इराक को गृहयुद्ध और विघटन की तरफ ले जाने का प्रयास कर रही थी वह गलत थी। हालांकि उन्होंने चेतावनी दी कि इराक में कठिन दिन आगे भी बने रहेंगे। ओबामा ने कहा कि आज भी हमने किर्कुक में मुर्खतापूर्ण बम हमला देखा है।

उन्होंने कहा कि इराक में ऐसे लोग हैं जो इराकी सुरक्षा बलों की परीक्षा लेंगे तथा इन बम हमलों के द्वारा अलगाववादी ताकतें इराकी लोगों को बांटने की कोशिश करेंगी। ओबामा ने विश्वास व्यक्त किया कि ये शक्तियां अपने उद्देश्यों में सफल नहीं होगी। उन्होंने बताया कि अमेरिकी सेनाओं को इराक के शहरों तथा कस्बों से 30 जून तक हटने और इराकी सेनाओं को नियंत्रण सौंपने की अंतिम समय सीमा थी।

राष्ट्रपति ने कहा कि इराकी लोगों का भविष्य अब स्वयं उनके हाथों में है। उन्होंने कहा कि शिया, सुन्नी और कुर्द नेताओं को वास्तविक राष्ट्रीय आम सहमति बनाने में आ रही बाधाओं को दूर करने के लिए कुछ कड़े फैसले लेने चाहिए। ज्ञातव्य है कि मंगलवार को किर्कक शहर में हुए कार बम हमले में 30 लोगों की मौत तथा 65 अन्य घायल हो गए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इराक से सेना वापसी ‘मील का पत्थर’: ओबामा