class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लिब्राहन आयोग और रेलवे परियोजनाओं को लेकर नीतीश को दी चुनौती

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद अपने प्रतिद्वंद्वी नीतीश कुमार पर हमला करने का मौका नहीं चूकते। रेल के मुनाफे और लिब्राहन आयोग की रिपोर्ट के मामले पर पलटवार करते हुए लालू प्रसाद ने कहा कि बिहार की रेल परियोजनाएं नीतीश कुमार के कारण अटक रही हैं।

अपने कार्य काल में डिविडेंट तक देने में फेल हो जाने वाले नीतीश कुमार उस लालू प्रसाद के कार्यकाल पर सवाल उठा रहे हैं जिसने रेलवे को 90 हजार करोड़ रुपये की सरप्लस मनी दी। बिहार को 55 हजार करोड़ रुपए की परियोजना दी, पर नीतीश राज के डीएम जमीन अधिग्रहण में टांग अड़ा रहे हैं।

लिब्राहन आयोग की रिपोर्ट को सार्वजनिक करने की मांग करते हुए श्री प्रसाद ने कहा कि पूरी दुनिया जानती है कि लालकृष्ण आडवाणी, कल्याण सिंह, विश्व हिन्दू परिषद और आरएसएस इसके लिए जिम्मेवार हैं। लिब्राहन आयोग की रिपोर्ट आने में 17 साल लग गये पर दोषियों की पहचान शुरू से ही है। उन्होंने नीतीश कुमार को अपना स्टैण्ड स्पष्ट करने की चुनौती दी।

श्रीप्रसाद ने कहा कि विकास पुरुष का तमगा हासिल करने वाले नीतीश कुमार के राज में घपला हो रहा है। पीडब्ल्यूडी में एडवांस पैसा देने का ऐसा चलन शुरू कर दिया गया है कि सरकार की पकड़ ही खत्म हो गई है। इंजीनियर योगेन्द्र पाण्डेय की हत्या हो जाती है पर जिम्मेवार एसपी पर कार्रवाई नहीं हो रही।

सिर्फ ट्रांसफर सजा नहीं होती। कंकड़बाग में नाला ढह रहा है। गुणवत्ता का गीत गाने वाले अब क्या कर रहे हैं। योजना की राशि और निर्माण समय को सार्वजनिक करने वाले नगरपालिका प्रकटीकरण विधेयक के मुताबिक कार्रवाई क्यों नहीं हो रही।

मंत्रियों के बंगले पर करोड़ों खर्च हो गये, कहां है नियम-कानून? आखिर नीतीश कुमार किसको बेवकूफ बना रहे हैं? प्रदेश में 35 चीनी मिले कहां खुली, उन्हें बताना चाहिए। विशेष राज्य के दर्जा की मांग हमने की, और वो उसकी रट लगाये हुए हैं। सूबे में 39 ओवरब्रिज हमने स्वीकृत की। सिर्फ एप्रोच रोड बनाके वे उसका श्रेय ले रहे हैं। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लालू ने किया नीतीश पर पलटवार