class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

होन्डुरास के अपदस्थ राष्ट्रपति को यूएन का न्यौता

होन्डुरास के अपदस्थ राष्ट्रपति को यूएन का न्यौता

संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष मीगुएल डी एस्कोटो ने होन्डुरास के अपदस्थ वामपंथी राष्ट्रपति मैन्युल जेलाया को न्यौता दिया है कि वह जल्द से जल्द महासभा को संबोधित करें।

एस्कोटो ने बताया की इस संबंध में एक पत्र राष्ट्रपति के पास भेज दिया गया है। पत्र में राष्ट्रपति से अनुरोध किया गया है कि वह संयुक्त राष्ट्र आएं तथा महासभा को संबोधित करके देश की ताजा गतिविधियों से अवगत कराएं। एस्कोटो ने यह बात महासभा की एक बैठक दौरान कही।

उन्होंने बताया कि इस बैठक का उद्देश्य उन रास्तों पर विचार करना था, जिसके द्वारा जेलाया की वैधानिक सरकार को फिर से सत्ता में लाना सुनिश्चित किया जा सके। होन्डुरास की संसद ने रोबेर्टो मीचेलेटी को अंतरिम प्रधानमंत्री नियुक्त किया है।

संयुक्त राष्ट्र में होन्डुरास के राजदूत जोर्गे अटूरो ने जिलाया का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि आज मेरे देश ने लोकतांत्रिक प्रणाली की सरकार को खो दिया। उन्होंने विश्व समुदाय से अनुरोध किया कि वह होन्डुरास की गैर कानूनी सरकार को मान्यता न दें। इससे पहले होण्डुरास में राष्ट्रपति मैनुएल जिलाया के खिलाफ सेना की बगावत के बाद अमेरिका, यूरोपीय यूनियन और अन्य विदेशी ताकतों ने सख्ती दिखाते हुए उन्हें दोबारा पदस्थ करने को कहा था।

अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा प्रशासन क्यूबा और अमेरिकी राज्यों के संगठन सहित विश्व के कई देशों ने सेना के इस कदम की भत्र्सना करते हुए जिलाया को वापस लाने की मांग की थी।  जिलाया के खिलाफ  विद्रोह पर उतारू सेना ने रविवार को राष्ट्रपति महल में प्रवेश कर उन्हें हिरासत में ले लिया था। वेनेजुएला के राष्ट्रपति ह्यूगो शावेज के सहयोगी रहे वामपंथी नेता जिलाया ने 2006 में सत्ता संभाली थी। लेकिन चार साल से अधिक राष्ट्रपति पद पर बने रहने के एक संवैधानिक संशोधन को लेकर उनकी कांग्रेस, सेना और न्यायपालिका से ठन गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:होन्डुरास के अपदस्थ राष्ट्रपति को यूएन का न्यौता