class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेजबान की भूमिका बेहतर निभाई राज्यपाल ने, पत्नी ने भी गैलरी में आ किया सबका अभिवादन

अधिकारियों ने दिखा दी लाटसाहिबी। बिहार के नवनियुक्त राज्यपाल देवानंद कुंवर के शपथग्रहण समारोह में अधिकारियों ने सामान्य शिष्टाचार की वर्षो से चली आ रही परम्परा को तार-तार कर दिया। शपथग्रहण के बाद राज्यपाल अपनी कुर्सी से ही सबका अभिवादन कर सीधे निकल गए।

इस दौरान उन्होंने न तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का और न ही अन्य गणमान्य अतिथियों के पास जाकर उनका अभिवादन किया। राज्यपाल के सीधे निकल जाने से वहां मौजूद तमाम लोग सन्न रह गए। यहां तक कि नीतीश सरकार के मंत्री भी एक-दूसरे का मुंह ताकते रह गए। हालांकि राज्यपाल ने बाद में टी-पार्टी में मेजबान की भूमिका बेहतर ढंग से निभाई और उसमें तमाम अतिथि शामिल हुए।

सबसे बड़ी बात तो यह रही है कि समारोह शुरू होने के पूर्व राज्यपाल की पत्नी अचानक अतिथियों का अभिवादन करने पहुंच गई। उन्होंने विपक्ष की नेता राबड़ी देवी से हाथ भी मिलाया और वहां मौजूद अन्य मंत्रियों का हाथ जोड़कर अभिवादन किया। तब तक मुख्यमंत्री वहां नहीं पहुंचे थे। इसके पूर्व महज पांच मिनट के औपचारिक शपथ ग्रहण समारोह में कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश शिवकीर्ति सिंह ने नव नियुक्त राज्यपाल को उनके पद की शपथ दिलाई।

मुख्य सचिव आर.जे.एम. पिल्लै ने समारोह शुरू करने की इजाजत राज्यपाल से मांगी। शपथग्रहण के ठीक बाद राज्यपाल अपनी सीट से बाहर निकले। तबतक अधिकारियों ने उनके गार्डो को इशारा किया और वे राज्यपाल के आगे हो लिए। राज्यपाल थोड़ी देर के लिए ठिठके, लेकिन फिर आगे बढ़ गए।

तबतक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, विधान परिषद के सभापति प्रो. अरुण कुमार, विधानसभाध्यक्ष उदय नारायण चौधरी, मंत्री रामाश्रय प्रसाद सिंह, विजेन्द्र प्रसाद यादव, रामनाथ ठाकुर, वृशिण पटेल, छेदी पासवान के अलावा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अनिल शर्मा, महाचन्द्र सिंह भी अपनी सीट से खड़े हो गए। राज्यपाल के सीधे निकल जाने के बाद सब निराश हो गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिहार के नवनियुक्त राज्यपाल ने ली शपथ