class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विकेट नहीं पढ़ने के कारण हारेः धोनी

विकेट नहीं पढ़ने के कारण हारेः धोनी

भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने वेस्टइंडीज के खिलाफ रविवार को दूसरे वनडे में हार के बाद कहा कि वह विकेट की प्रकृति को सही तरीके से समझ नहीं पाये जिसके कारण टीम को हार का सामना करना पड़ा।

मैच समाप्ति के बाद संवाददाताओं से बातचीत में धोनी ने माना कि विकेट को पढ़ने में उन्होंने गलती की। विकेट पर गेंद शुरुआत में स्विंग हो रही थी और बल्लेबाजों को चाहिए था कि वह धैर्यपूर्वक खेलते लेकिन ऐसा नहीं हुआ जिसका दुष्परिणाम टीम को हार के रूप में भुगतना पड़ा। उन्होंने कहा कि विकेट की स्थिति को देखते हुये भारतीय बल्लेबाजों को विपक्षी गेंदबाजों पर शुरुआत से ही प्रहार करने के बजाए गेंदों को सम्मान देना चाहिए था लेकिन टीम ऐसा करने में असफल रही। धोनी ने कहा कि सात रन पर तीन विकेट गिरने से पहल तो यही लग रहा था कि विकेट का मिजाज अच्छा है और लेकिन जब आप तीन विकेट खो देते हैं तो फिर आप मैच पर पकड़ बनाने का प्रयास करते हैं।
धोनी ने कहा कि यह तो बढ़िया हुआ कि मेरे और आरपी सिंह के प्रयासों से टीम 188 के सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचने में सफल रही वरना टीम की जो हालत तो और भी बुरी हो सकती थी। उन्होंने कहा कि पहले पांच दस ओवर तक बल्लेबाजी करने के बाद विकेट बल्लेबाजी के लिए काफी बेहतर हो चुका था। यदि भारतीय टीम ने शुरुआती ओवरों के दौरान विकेट नहीं गंवाये होते तो टीम भी बढ़िया शुरुआत का फायदा उठाकर अच्छा स्कोर खड़ा कर सकती थी। साथ ही उन्होंने कहा कि 188 रन के स्कोर का बल्लेबाजी के लिए उपयुक्त विकेट पर बचाव नहीं किया जा सकता था।


धोनी ने एक बार फिर उपकप्तान युवराज सिंह की प्रशंसा करते हुए कहा कि उन्होंने फिर एक बार अच्छी पारी खेली लेकिन एक ही बल्लेबाज से हर पारी में अच्छे प्रदर्शन की आशा करना टीम के लिए सही नहीं है।

उधर, जीत से प्रफुल्लित मेजबान वेस्टइंडीज टीम के कप्तान क्रिस गेल ने कहा कि तेज गेंदबाजों जेरोम टेलर और रवि रामपाल ने मैच में शानदार गेंदबाजी कर भारतीय बल्लेबाजों को सस्ते में आउट किया। उन्होंने कहा कि दोनों गेंदबाजों ने ही पिच में मौजूद नमी का शुरुआती ओवरों में फायदा उठाकर टीम को बेहतरीन आगाज दिलाया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विकेट नहीं पढ़ने के कारण हारेः धोनी