class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उर्वरक संयंत्रों के लिये सरकार शुरू करेगी वैश्विक निविदा प्रक्रिया

उर्वरक संयंत्रों के लिये सरकार शुरू करेगी वैश्विक निविदा प्रक्रिया

केंद्र सरकार आठ उर्वरक संयंत्रों के पुनरूत्थान के लिये अगले दो महीने में वैश्विक टेंडर प्रक्रिया शुरू कर सकती है। इन उर्वरक संयंत्रों में 36,000 करोड़ रुपये के कुल निवेश की जरूरत है और उम्मीद है कि इनमें से कम से कम चार संयंत्र अगले तीन साल में फिर से शुरू किये जा सकते हैं।

उर्वरक मंत्रालय के शीर्ष अधिकारी ने  कहा कि हम बंद इकाइयों के पुनरूत्थान के लिये अगले दो महीने में वैश्विक टेंडर प्रक्रिया शुरू करने में सक्षम होंगे। अक्तूबर 2008 में कैबिनेट ने फर्टिलाइजर कारपोरेशन आफ इंडिया तथा हिंदुस्तान फर्टिलाइजर कारपोरेशन की आठ इकाइयों के पुनरूत्थान हेतु वित्तीय माडल सुभाने के लिये उर्वरक सचिव अतुल चतुव्रेदी की अध्यक्षता में सचिवों की अधिकार प्राप्त समिति के गठन की मंजूरी दी थी।

ये उवर्रक संयंत्र बरौनी, हल्दिया, तलचर, रामागुंडम, दुर्गापुर, गोरखपुर, कोर्बा और सिंदरी में स्थित है। अधिकार प्राप्त समूह से जुड़े एक सदस्य ने कहा कि कम से कम इनमें से आधे संयंत्रों को अगले तीन साल में पुनरूत्थान किया जा सकता  है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उर्वरक संयंत्रों के लिये सरकार शुरू करेगी वैश्विक निविदा प्रक्रिया