class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्वात पर पाक की विजय घोषणा जल्दबाजीः हालब्रुक

स्वात पर पाक की विजय घोषणा जल्दबाजीः हालब्रुक

पाकिस्तान और अफगानिस्तान मामलों के अमेरिका के विशेष दूत रिचर्ड हालब्रुक ने कहा है कि स्वात घाटी में तालिबानी लड़ाकों के खिलाफ सैन्य कार्रवाई चला रहे पाकिस्तान के लिए जीत की घोषणा करना जल्दबाजी होगी।

हालब्रुक ने ट्रिस्टी में चल रहे जी 8 सम्मेलन में ये कहा कि पाकिस्तान की असली अग्नि परीक्षा स्वात में सैन्य अभियान के कारण पलायन करने वाले नागरिकों को फिर से बसाने में होगी। पाकिस्तान जब तक इन नागरिकों के वहां लौटने के बाद उन्हें पूरी तरह से सुरक्षा मुहैया नहीं करा देता स्वात में उसकी जीत पूरी नहीं कही जाएगी।

उन्होंने कहा कि क्या पाकिस्तानी सेना लोगों को यह गारंटी देगी कि तालिबान आतंकी स्वात में फिर से वापस नहीं आएंगे। हालांकि हम यह जानते हैं कि स्वात से आतंकवादियों को खदेड दिया जाएगा लेकिन उसके लिए हमें एक लंबा सफर तय करना है। इसलिए अभी से कुछ कहना जल्दबाजी होगी।

अफगानिस्तान में हताहत हो रहे नाटो तथा अमेरिकी सैनिकों के मुद्दे पर हालब्रुक ने कहा कि हम यह नहीं जानते कि वहां सैनिकों की संख्या बढ़ाए जाने के बावजूद भी ऐसी घटनाएं होती रहेंगी लेकिन अफगानिस्तान में हमारे नए कमांडर जनरल स्टेनली मैकक्रिस्टल ने कार्यभार संभाल लिया है और वह वहां अपनी जीत के लिए नई योजनाओं पर काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि तालिबान पहली बार अपने कदमों को वापस खिंचता दिखाई पड़ रहा है।

हालब्रुक ने पाकिस्तान में विस्थापितों की मदद के लिए अपने सहयोगी राष्ट्रों द्वारा मदद नहीं किए जाने पर उनकी खासी आलोचना भी की। उन्होंने कहा कि मेरी नजर में बाकी देश पूरी तरह से सहयोग नहीं कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि अमेरिका ने पाकिस्तान में विस्थापितों की सबसे ज्यादा मदद की है। हालांकि उन्होंने यह भी बताया कि जी 8 के सम्मेलन में आए कुछ विदेश मंत्रियों ने उनसे निजी तौर पर कहा है कि उनके देश इस मामले में अमेरिका की मदद कर सकते हैं।

गौरतलब है कि जी 8 के सम्मेलन में 45 देशों और विभिन्न संस्थाओं ने पाकिस्तान में लगभग 20लाख विस्थापितों की मदद करने के लिए एक वक्तव्य जारी किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्वात पर पाक की विजय घोषणा जल्दबाजीः हालब्रुक