class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विशिष्ट बीटीसी प्रशिक्षित को नियुक्ति न देने के आदेश

शिक्षा निदेशक पुष्पा मानस ने हर जनपद के जिला शिक्षा अधिकारी को किसी भी विशिष्ट बीटीसी प्रशिक्षित को नियुक्ति न देने के आदेश जारी किए हैं। आदेश अनीता वालिया बनाम उत्तराखंड राज्य के संदर्भ में 19 जून की हाईकोर्ट की टिप्पणी के बाद दिया गया है। रिट में वालिया ने बीटीसी से भरे जाने वाले पदों पर विशिष्ट बीटीसी से प्रशिक्षित लेने पर आपत्ति जताई थी।

वालिया ने कहा था यदि एक बार बीटीसी के पद विशिष्ट बीटीसी से भर दिए जाएंगे तो उनका हक मारा जाएगा। विदित हो बीटीसी की परीक्षा के लिए तीन साल पूर्व आवेदन पत्र मांगे गये थे। हाईकोर्ट की एकल पीठ में न्यायमूर्ति बीके बिष्ट ने नियुक्तियों के औचित्य पर सवाल उठाते हुए शासन की ओर से उपस्थित शिक्षा निदेशक पुष्पा मानस से बीटीसी परीक्षा के बारे में स्पष्टीकरण मांगा था। जवाब में मानस ने कहा कि इस संबंध में पूरी तैयारी की जा चुकी है। परीक्षा जुलाई-अगस्त में करा ली जाएगी। 2006 में जारी विशिष्ट बीटीसी के 395 पदों की विज्ञप्ति के बाद प्रत्याक्षियों को दिसंबर 2008 में विभिन्न डायटों में प्रशिक्षिण कराया गया। लेकिन, लोकसभा चुनावों के मद्देनजर इनमें से कईयों को स्कूल आबंटित नहीं हो सके। कुछ जिलों में नियुक्ति के लिए आगामी 29 जून को काउंसिलिंग कराई जानी थी। लेकिन, इसी बीच शिक्षा निदेशक के आदेश से इनकी नौकरी खटाई में पड़ गयी है। पुष्पा मानस ने बताया आदेश कोर्ट के कांटेम्ट के संदर्भ में सतर्कतावश दिया गया है। इस संबंध में शिक्षा विभाग फिर से कोर्ट की शरण में जाएगा। वहीं, प्रशिक्षित विशिष्ट बीटीसी प्रशिक्षित एलपी नगरकोटी ने बताया हम शीघ्र ही हाईकोर्ट में रिट दायर करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विशिष्ट बीटीसी प्रशिक्षित को नियुक्ति न देने के आदेश