class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विरोध पर फैक्ट्री कर्मी को जमकर धुना

फैक्ट्री प्रबंधन से उलझने पर फैक्ट्रीकर्मी की जान पर बन आई। फैक्ट्री प्रबंधन एवं ठेकेदार ने कर्मचारी को बुरी तरह मारा पीट कर फैक्ट्री के मुख्य द्वार के बाहर फेंक दिया। जिला अस्पताल में गंभीर रूप से घायल फैक्ट्रीकर्मी का उपचार चल रहा है। चचेरे भाई ने पांच लोगों के खिलाफ हत्या के प्रयास समेत गंभीर धाराओं में मामला दर्ज कराया है। मामला सेलो फैक्ट्री का है। पथरी क्षेत्र के ग्राम बादशाहपुर का रहने वाला 22 वर्षीय सोनू ठाकुर फैक्ट्री में कार्यरत था। ठेकेदार के अंडर में कार्य करने वाले सोनू ठाकुर ने फैक्ट्री प्रबंधन और ठेकेदार के खिलाफ आवाज उठाना शुरु कर दी।


सोनू ठाकुर ने मांगों को लेकर अन्य मजदूरों को भी लामबंद करना शुरु कर दिया। गत 25 तारीख को सोनू ठाकुर रोजना की भांति फैक्ट्री में डयूटी पर पहुंचा। आरोप है कि फैक्ट्री प्रबंधन और ठेकेदार ने अपने साथियों के साथ मिलकर उसे मारना पीटना शुरु कर दिया। सोनू ठाकुर को तब मारा-पीटा जाता रहा, जब तक वह अचेत न हो गया। इसके बाद गंभीर रूप से घायल सोनू को फैक्ट्री के बाहर लाकर डाल दिया। 

किसी तरह सोनू को गंभीरवस्था में जिला अस्पताल में दाखिल कराया गया। सोनू के सिर और अंदरूनी चोटे आई है। दो दिन तक पुलिस ने मामला कायम नहीं करा। लेकिन उच्चाधिकारियों के संज्ञान में आने पर पुलिस हरकत में आई। शनिवार शाम सोनू के चचेरे भाई ओमदत्त ने फैक्ट्री प्रबंधक केशव शुक्ला, ठेकेदार अवधेश, सुनील, सुपरवाइजर प्रदीप और कमलेश पर हत्या का प्रयास करने समेत गंभीर आरोप लगाते हुए मामला कायम करा दिया है।
कोतवाली प्रभारी ने बताया कि चूंकि मामला फैक्ट्री प्रबंधन से जुड़ा है, इसलिए गहनता से जांच की जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विरोध पर फैक्ट्री कर्मी को जमकर धुना