class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दुनिया की सबसे तीखी मिर्च से बनेंगे हथियार, डीआरडीओ के वैज्ञानिक जुटे शोध में

दुनिया की सबसे तीखी मिर्च से बनेंगे हथियार, डीआरडीओ के वैज्ञानिक जुटे शोध में

दुनिया की सबसे तीखी मिर्च भूत झोलोकिया अब भारतीय सुरक्षा बलों का नया हथियार होगा। यानी दुश्मनों से लड़ने के लिए सुरक्षा बलों के पास ऐसे हथियार होंगे जिसमें बारुद की जगह इस मिर्च का पाउडर भरा होगा। सेना इसका इस्तेमाल दंगों या किसी आपात स्थिति के नियंत्रण के दौरान करेगी।

रक्षा अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार, डीआरडीओ के वैज्ञानिक इस दिशा में लगातार अनुसंधान कर रहे हैं। शोध में जुटे वज्ञानिकों में से एक आरबी श्रीवास्तव के अनुसार, यह हथियार ऐसा होगा जिससे कोई मरेगा तो नहीं पर उसमें शमिल मिर्च वहां मौजूद लोगों को पंगु अवश्य कर देगा। अभी हम इस घातक मिर्च के कई विकल्पों पर विचार कर रहे हैं जो सेना के काम आ सकते हैं।

वैज्ञानिकों के अनुसार, यह मिर्च देश के उत्तर-पूर्व इलाके में खासतौर पर पाई जाती है और इसमें इतनी गर्मी होती है कि वह लोगों को पंगु करने के लिए काफी है। वैज्ञानिकों के अनुसार, मिर्च की इस प्रजाति भूत झोलोकिया में इतनी गर्मी होती है कि यह स्कोविले स्केल पर दस लाख उष्मा ईकाई पैदा कर सकती है, जो आमतौर पर रसोई में पाई जाने वाली मिर्च से हजारों गुना अधिक होती है।

स्कोविले उष्मा मापने की एक ईकाई है और यह नाम अमेरिकी वैज्ञानिक विल्बर स्कोविले के नाम पर दिया गया था। स्कोविले ने ही पहली बार मिर्च में उष्मा की मात्रा मापी थी। यही नहीं वैज्ञानिकों की योजना मिर्च की इस विशेष प्रजाति को उन जवानों के भोजन में भी शामिल करने की है जो काफी ठंडे वातावरण में तैनात रहते हैं। इससे उन्हें उस ठंड में अपने शरीर के तापमान को कायम रखने में मदद मिलेगी।

इसके अलावा वैज्ञानिक इस बात पर भी शोध कर रहे हैं कि इस मिर्च के ऊपरी हिस्से को सेना के बैरकों के बाहर घेराबंदी में इस्तेमाल की गई तारों पर भी लगाया जाए ताकि जंगली जानवर उससे दूर रहें। हालांकि वर्तमान में मिर्च से बनी स्प्रे का प्रयोग दुनिया के कई हिस्सों में किया जाता है मगर भारत में ऐसा पहली बार होगा जब मिर्च की किसी प्रजाति को सेना अपना हथियार बनाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सेना का नया हथियार होगी भूत झोलोकिया