class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

..जब जैक्सन के आगे हक्के-बक्के थे बिग बी

..जब जैक्सन के आगे हक्के-बक्के थे बिग बी

सदी के महानायक अमिताभ बच्चन किसी जमाने में माइकल जैक्सन के इस कदर दीवाने थे कि अमेरिका में उनके शो का टिकट पाने के लिए उन्होंने जीतोड़ कोशिशें कीं, लेकिन उसके बावजूद उन्हें जैक्सन का दीदार नहीं हुआ। और एक दिन अचानक ऐसा हुआ कि बिन मांगे ही अमिताभ को वह सौगात मिल गई। पॉप सम्राट उनके सामने नमूदार हुए और बिग बी हक्के बक्के खड़े रह गए, मुंह से बोल तक न फूटा।

अमिताभ ने अपने ब्लॉग में माइकल जैक्सन को याद करते हुए लिखा है कि एक बार ऐसा समय भी आया जब पॉप स्टार को अचानक सामने देख मैं भौंचक्के रह गया। माइकल जैक्सन से 1990 के दशक के शुरू में न्यूयार्क यात्रा के दौरान हुई अपनी दूसरी मुलाकात का जिक्र करते हुए बिग बी ने लिखा है, एक दिन होटल के मेरे कमरे की घंटी बजी। मैं दरवाजा खोलने के लिए उठा। जब मैंने दरवाज खोला तो मेरे सामने माइकल जैक्सन खड़े थे। मैं आश्चर्यचकित था।

उन्होंने लिखा है, माइकल जैक्सन विनम्रता से बोले, ओह, मुझे माफ कीजिए लगता है कि मैं गलत कमरे में आ गया हूं। अमिताभ ने ब्लॉग में कहा है, मुझे यह याद नहीं है कि इसके जवाब में मैंने कुछ कहा या नहीं और न ही यह याद है कि मैं उस अवस्था में कितनी देर तक खड़ा रहा और अंदर आने के लिए कब दरवाजा बंद किया।

बिग बी ने लंदन से लिखा है कि अगले दिन उनके एक मित्र ने माइकल जैक्सन से उनकी मुलाकात कराई। उन्होंने लिखा है कि इस मुलाकात में हम पिछले दिन की घटना को लेकर खूब हंसे और खुशनुमा माहौल में बातचीत हुई।

जैक्सन के प्रति बिग की दीवानगी का पता इसी बात से चलता है कि 1982 में भयानक दुर्घटना का शिकार होने पर ठीक होने के बाद जब वह अपने स्वास्थ्य पर अमेरिकी डॉक्टरों की सलाह लेने वहां गए तो उन्होंने कैसे भागदौड़ करके माइकल के कार्यक्रम का टिकट जुटाया। माइकल जैक्सन का जैक्सनविले फ्लोरिडा के ओडले में कार्यक्रम था।

अपने भाई के साथ वह किसी प्रकार उस फुटबॉल स्टेडियम में पहुंचे जहां कार्यक्रम था। उन्हें तथा उनके भाई को अंतिम पंक्ति में सीट मिली। इस शो को देखने के लिए लगभग एक लाख लोगों की भीड़ मौजूद थी। बिग बी ने लिखा है कि जैक्सन के दीवाने अपने स्टार को देख पगला गए और पूरे तीन घंटे के कार्यक्रम में ये लोग अपनी सीटों पर खड़े होकर उसकी धुनों पर नाचते गाते रहे। वह लोगों का एक सैलाब था। कानों को बहरा कर देने वाला शोर, दीवानों का शोर, हर तरफ शोर ही शोर।

जैक्सन के मुंबई में हुए कार्यक्रम को याद करते हुए बिग बी ने लिखा है, पूरी रात मेरा घर ‘प्रतीक्षा’ जैक्सन के कार्यक्रम स्थल से आ रही ध्वनि तरंगों से हिलता रहा। अमिताभ ने कहा है कि यह 1970 के दशक के मध्य की बात है जब दुनिया में जैक्सन का जलवा छाने लगा था। उनकी चाल-ढाल, नृत्य और गायन ऐसा था जैसे वह किसी दूसरे ग्रह से आए हों।

बिग बी ने कहा है कि जैक्सन का शरीर किसी मशीनी खिलौने की तरह थिरकता था। वह एक असाधारण कलाकार थे। हर कोई उनकी तरह नाचना और उनके जैसे कपड़े पहनना और उनके जैसा बनना चाहता था। लेकिन कोई भी उनकी परछाई तक को छू नहीं पाया। उन्होंने लिखा है कि घर लौटूंगा तो अभिषेक के जन्मदिन की उस रिकार्डिंग को निकाल कर देखूंगा, जिसमें सात-आठ साल के अभिषेक ने माइकल की तरह की ड्रेस पहनी थी और थ्रिलर डांस किया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:..जब जैक्सन के आगे हक्के-बक्के थे बिग बी