class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मई में अमेरिकियों की क्रय क्षमता बढ़ी

मई में अमेरिकियों की क्रय क्षमता बढ़ी

अमेरिका में वैश्विक मंदी के कारण गत फरवरी के बाद पहली बार मई में लोगों की क्रय क्षमता में वृद्धि हुई जो मंदी से उभरने का साफ संकेत है। मंदी से परेशान अमेरिकियों में भी बचत करने की ललक पैदा हो गई है और वार्षिक बचत की दर वर्ष 1959 के बाद रिकार्ड उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है।

वाणिज्य विभाग ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था में लोगों की क्रय शक्ति की हिस्सेदारी करीब 70 प्रतिशत की है। फरवरी के बाद पहली बार मई में क्रय क्षमता में 0.3 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई जबकि अप्रैल तक यह स्थिर थी। विभाग ने कहा है कि मंदी की वजह से सरकार के प्रोत्साहन पैकेजों से लोगों की व्यक्तिगत आय में भी गत महीने 1.4 प्रतिशत की वृद्धि हुई जबकि अप्रैल में यह 0.7 प्रतिशत रही थी।

मंदी से परेशान लोगों की मदद के लिए सरकारी प्रोत्साहन पैकेज के तहत सामाजिक सुरक्षा पूरक सुरक्षा आय तथा अन्य लाभ पाने वाले लोगों को एकमुश्त 250 डालर दिया गया है। मंदी ने अमरीकियों में बचत करने की ललक भी पैदा कर दी है। सरकारी आंकडों के अनुसार वार्षिक बचत दर में जबरदस्त वृद्धि हुई है और यह वर्ष 1993 के बाद सबसे उच्चतम स्तर 6.9 प्रतिशत के साथ 768.8 अरब डालर रही है। अमेरिका में बचत दर की शुरुआत वर्ष 1959 में की गई थी और इस वर्ष यह अब तक रिकार्ड स्तर है।


विश्लेषकों ने कहा है कि उपभोग में बढोत्तरी सकारात्मक संकेत है। यह अर्थव्यवस्था में स्थिरता आने का भी संकेत है। विश्लेषकों ने कहा है कि मंदी की वजह से सरकार द्वारा प्रोत्साहन पैकज दिया गया है। हालांकि देश के इतिहास में पहली बार किसी सरकार ने इस तरह का पैकेज दिया है। एक सर्वेक्षण रिपोर्ट में कहा गया है कि व्यक्तिगत क्रय क्षमता तथा आय में वृद्धि से चालू महीने में भी लोगों के विश्वास में सुधार
आएगा। इस सर्वेक्षण में कहा गया है कि जून में लोगों का विश्वास सूचकांक 70.8 प्रतिशत पर रहेगा जबकि मई में यह 68.7 पर रहा था। जून का सूचकांक फरवरी 2008 के स्तर पर है।


इनसाइट इकोनोमिक्स के मुख्य अर्थशास्त्री स्टीवन वूड ने एक शोध रिपोर्ट में कहा है कि गत चार महीने से लोगों की क्रया शक्ति में धीरे-धीरे सुधार आ रहा है जो अर्थव्यवस्था में सुधार का पक्का संकेत है। हालांकि उन्होंने कहा है कि इसके बावजूद सावधानी बरतने की आवश्यकता है क्योंकि लोगों की क्रय क्षमता अधिक दिनों तक एक जैसी बनी नहीं रह सकती है। हालांकि सर्वेक्षण रिपोर्ट में कहा गया है कि क्रय क्षमता में वृद्धि मंदी से उबरने का साफ संकेत है। लोगों ने घरों वाहनों और अन्य घरेलू वस्तुओं पर खर्च करना शुरू कर दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मई में अमेरिकियों की क्रय क्षमता बढ़ी