class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

1500 कॉलेजों को यूनिवर्सिटी का दर्जा

1500 कॉलेजों को यूनिवर्सिटी का दर्जा

सरकार ने यदि उच्च शिक्षा सुधारों से संबंधित उच्चस्तरीय समिति की सिफारिशों को स्वीकार कर लिया तो लंबे इतिहास, मजूबत आधारभूत ढांचे और छात्र-छात्राओं की बड़ी संख्या वाले लगभग 1500 कॉलेज प्रोन्नत होकर विश्वविद्यालय की श्रेणी में आ सकते हैं।

विश्वविद्यालयों की सिरदर्दी कम करने के लिए एक और सलाह यह दी गई है कि अच्छी गुणवत्ता के कॉलेजों को स्वायत्त दर्जा प्रदान कर दिया जाए। स्वायत्त दर्जा मिलने से कॉलेज अपना खुद का पाठयक्रम तैयार कर सकते हैं और खुद ही परीक्षा आयोजित कर सकते हैं।

रीनोवेशन एंड रीजुवेनेशन ऑफ हायर एजुकेशन संबंधी प्रो. यशपाल के नेतृत्व वाली समिति ने कहा है कि संबद्धता वाली व्यवस्था खत्म होनी चाहिए और अच्छे कॉलेजों को प्रोन्नत कर विश्वविद्यालय का दर्जा दे दिया जाना चाहिए।

समिति के सदस्य प्रो. एम़आनंदकृष्णन ने बताया कि विश्वविद्यालयों, कॉलेजों तथा अन्य के साथ हुई हमारी चर्चा के दौरान हमने पाया कि बड़ी संख्या में कॉलेजों के संबद्ध होने की वजह से विश्वविद्यालयों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। हमने सलाह दी है कि लगभग 1500 कॉलेजों में विश्वविद्यालय का दर्जा पाने की क्षमता है।

उन्होंने कहा कि वर्तमान में विश्वविद्यालयों से संबद्ध कॉलेजों की संख्या लगभग 20 हजार है। राष्ट्रीय ज्ञान आयोग ने इससे पहले उच्च शिक्षा की जरूरत को पूरा करने के लिए 1500 विवि की स्थापना की सलाह दी थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:1500 कॉलेजों को यूनिवर्सिटी का दर्जा