class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छुट्टियां हैं कम फिर भी फुल मस्ती, नो टेंशन

छुट्टियां हैं कम फिर भी फुल मस्ती, नो टेंशन

दिल्ली-जयपुर
सबसे पहले चलते हैं दिल्ली से जयपुर की ओर।
बच्चों के लिए इस रास्ते में दो एम्यूजमेंट पार्क पड़ते हैं वैट एंड वाइल्ड व आपनो घर। वैट एंड वाइल्ड में एम्यूजमेंट पार्क, वॉटर पार्क और रिजॉर्ट तीनों की सुविधा है। आंखों को सुकून देने वाली हरियाली है, ठंडे पानी के कई पूल हैं, बॉलिंग और डिस्कोथिक है तो फुल मस्ती के लिए वॉटर स्लाइड्स हैं। यहां स्पा सुविधा भी है। इसी हाइवे पर आपनो घर है। यहां भी एम्यूजमेंट और वॉटर पार्क दोनों की सुविधा है। कैटरपिलर, बेबी ट्रेन, पागल किश्ती, फ्लाइंग डिश, वॉटर मेरी-गो-राउंड आदि  झूलों के अलावा बाजा रेस्तरां, मधुशाला बार व एयरपोर्ट मोटेल भी है।

ईटिंग प्वॉइंट इस रूट पर खाने के कई अच्छे रेस्तरां हैं, पर हल्दीराम और मिडवे दो ऐसी जगह हैं, जहां आप खाने का भरपूर आनंद ले सकते हैं।
कहां जाएं- इस मार्ग पर स्थित चोखी-धानी को आप अपना अंतिम पड़ाव बना सकते हैं।  यह जगह आपको राजस्थानी गांव के परिवेश से रूबरू कराएगी। यहां झोपड़ी और हवेलीनुमा काफी बड़ी जगहें हैं, जो पूरी तरह वातानुकूलित हैं। यहां हैल्थ क्लब, स्पा, जिम, खास राजस्थानी फूड, कठपुतली डांस, ऊंट व बैलगाड़ी की सवारी आदि सभी कुछ है।

दिल्ली-मथुरा/आगरा
धार्मिक यात्रा या फिर ऐतिहासिक स्थल देखने के इच्छुक दिल्ली से मथुरा रोड पर सरक सकते हैं।
बच्चों के लिए दिल्ली से कुछ ही दूरी पर बदरपुर में बॉलिंग एलै और फरीदाबाद में डेस्टिनेशन पॉइंट हैं, जहां बच्चों के साथ-साथ आपका पूरा परिवार बॉलिंग और गो-कार्टिग का मजा उठा सकता है।
ईटिंग प्वाइंट- दिल्ली से लगभग 92 कि.मी. की दूरी पर स्थित डाबचिक टूरिस्ट कॉम्लेक्स में आप मल्टी कुजीन का लुत्फ उठा सकते हैं। यहां  बच्चे हाथी  व ऊंट की सवारी के साथ सांप का खेल भी देख सकते हैं। 
कहां जाएं - इस रूट पर आप अपना अंतिम पड़ाव मथुरा-वृंदावन या फिर ताज नगरी आगरा को बना सकते हैं। चाहें तो लगे हाथों फतेहपुरी सीकरी भी देख आइएगा।

दिल्ली-हरिद्वार/ ऋषिकेश
बच्चों के लिए इस रास्ते में बच्चों के लिए जो सबसे खास है, वह है चीतल ग्रैंड। दिल्ली और हरिद्वार के बीच  लगभग मध्य में खतौली के समीप पड़ता है चीतल ग्रैंड, जहां बच्चे मस्त हो जाते हैं। यहां अनगिनत किस्मों के पेड़-पौधों और फूलों से अटे दूब के मखमली गलीचे हैं और है एक छोटा-सा, प्यारा सा चिडियाघर।
ईटिंग प्वॉइंट- इस मार्ग पर चीतल ग्रैंड ऐसा है मानो तपती धूप में झुलसते राहगीर को दरख्त का साया मिल जाए। यहां का मल्टीकुजीन रेस्तरां लाजवाब है।
कहां जाएं -हरिद्वार जाएं या ऋषिकेश सांझ ढले गंगा की आरती जरूर देखें। दोनों जगह पावन गंगा है,  दुल्हन से सजे-धजे बाजार हैं और  चोटी वाले का रेस्तरां है।

दिल्ली चंडीगढ़/शिमला
बच्चों के लिए - बच्चों की मौज-मस्ती के लिए आपको इस रूट पर स्प्लैश वॉटर पार्क मिलेगा। इसमें स्वीमिंग पूल, वॉटर फॉल, वेव पूल, बॉडी स्लाइड, ब्रेक डांस, एचटूओ स्लाइड्स, फैमिली स्लाइड, जॉय राइड से लेकर कई तरह के वीडियो गेम्स से बच्चे अपना मनोरंजन कर सकते हैं।

ईटिंग प्वॉइंट- खाने के शौकीन मूर्थल के मशहूर परांठों का नाश्ता कर पानीपत में आइसक्रीम खाने निरूलाज रुक सकते हैं। यूं नॉनवेज के शौकीनों को अंबाला में पूरन सिंह का ढाबा भी निराश नहीं करेगा।
कहां जाएं - इस रूट पर आप बच्चों को ऐतिहासिक कुरूक्षेत्र दिखाते हुए शिमला या चंडीगढ़ को अपना अंतिम पड़ाव बना सकते हैं। चंडीगढ़ का रॉक गार्डन देख, सुखना झील में बोटिंग करनी है या शिमला में जाखू मंदिर के दर्शन कर माल रोड पर टहलना है, मर्जी आपकी।

बच्चों के लिए- दिल्ली-रोहतक हाइवे पर बहादुरगढ़ के पास स्थित है फनटाउन, जहां बच्चे वॉटर और एम्यूजमेंट पार्क दोनों का आनंद उठा सकते हैं। पीरागढ़ी चौक से लगभग 25 किलोमीटर की दूरी पर स्थित इस फन टाउन के वॉटर वार्क में टाइड पूल्स, मेजिक ट्विस्ट, मल्टी लेन, फन साइक्लोन, स्पाइरल राइड आदि हैं तो एम्यूजमेंट पार्क में कई तरह के झूलों के अतिरिक्त प्ले पैंस व साइंस गेम्स आदि हैं। यहां डीजे व डांस फ्लोर पर कई तरह के मनोरंजक कार्यक्रमों का आयोजन होता है।

ईटिंग प्वाइंट - फन टाउन में ही कई प्रकार के व्यंजनों का आनंद लिया जा सकता है। यहां ठहरने की सुविधा भी है। रास्ते में कई तरह के ढाबे तो हैं ही, साथ ही आप राज्य सरकार के पर्यटन विभाग द्वारा बनाए गए रिजॉर्ट तिलयार लेक कॉम्लेक्स व मायना टूरिस्ट रिजॉर्ट में अपने खाने-पीने का प्रबंध कर सकते हैं।
कहां जाएं- तलियार लेक कॉम्लेक्स में वीकएंड की छुट्टियों के लिए आराम से रुका जा सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:छुट्टियां हैं कम फिर भी फुल मस्ती, नो टेंशन