class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आर्थिक संकट में भी भारत का बेहतर प्रदर्शनः प्रीणीत

आर्थिक संकट में भी भारत का बेहतर प्रदर्शनः प्रीणीत

वैश्विक आर्थिक संकट से प्रभावित होने के बावजूद भारत का प्रदर्शन दुनिया के अन्य देशों से बेहतर रहा है। विदेश राज्यमंत्री प्रीणीत कौर ने न्यूयार्क में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में विश्व वित्तीय और आर्थिक संकट पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन को संबोधित करते हुए यह बात कही।

कौर ने कहा कि हमारा प्रदर्शन दूसरों से बेहतर रहा है। हालांकि वैश्विक संकट का असर हम पर भी पड़ा है और हमारी आर्थिक वद्धि दर जो पिछले चार साल से औसतन 9 प्रतिशत रही है, इस बार घटकर 6.7 फीसद पर आ गई है। उन्होंने कहा कि संकट से निपटने के लिए भारत ने वित्तीय और मौद्रिक नीति का आक्रामक इस्तेमाल किया। खासकर हमने ढांचागत निवेश के लिए वित्तीय पैकेज पर ध्यान केंद्रित किया।

विदेश राज्यमंत्री ने कहा कि हमारे समक्ष मुख्य चुनौती गरीबी, अज्ञानता और रोगों से हमारे लाखों नागरिकों को बचाने की है। इसके लिए हमें ऊंची वद्धि दर की जरूरत है और ऐसे उपाय करने होंगे जिससे यह दर बरकरार रहे। कौर ने कहा कि हमने इसे हासिल करने के लिए ग्रामीण और कृषि क्षेत्र में भारी निवेश किया, एक बड़ी ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना, बुनियादी ढांचा परियोजनायें, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा और ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन आदि की शुरुआत की।

विदेश राज्यमंत्री ने कहा कि भारत वर्तमान वैश्विक आर्थिक संकट से निपटने के लिए जी-20 के ढांचे के अनुरूप लगातार काम कर रहा है, जिससे वैश्विक अर्थव्यवस्था पटरी पर लौट सके। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ माह के दौरान दुनिया की बड़ी अर्थव्यवस्थाओं जी-20 के देशों की दो बार बैठक हो चुकी है और इन देशों के नेताओं ने विश्व अर्थव्यवस्था का भरोसा कायम करने और स्थिरता बहाल करने की प्रतिबद्धता जताई है। प्रीणीत कौर ने कहा कि इन नेताओं ने नियमन को मजबूत करने, अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संस्थानों में सुधार लाने और संरक्षणवाद को नकारने का भी इरादा जताया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आर्थिक संकट में भी भारत का बेहतर प्रदर्शनः प्रीणीत