class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ट्रेनिंग के बाद नौकरी ना मिलने से तंग युवाओं ने तोड़फोड़ की

सेक्टर-37 स्थित बीपीओ कंपनी एजीज में ट्रेनिंग के बाद जॉब न मिलने से आक्रोशित सैकड़ों युवाओं ने जमकर तोडफोड़ की। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर उन्हें शांत किया, लेकिन दोपहर बाद तक सभी वहीं मौजूद होकर नारेबाजी करते रहे। बाद में प्रबंधन ने उन्हें कुछ आश्वासन दिया, लेकिन मामला थमा नहीं। प्रदर्शन करने वालों की मांग थी कि उन्हें नौकरी मुहैया कराई जाए या पूरे पैसे लौटाए जाएं।

सुबह ही सेक्टर-37 स्थित बीपीओ कंपनी एजीज में हंगामा शुरू हो गया। उनकी बात नहीं सुनने पर युवाओं ने तोड़फोड़ शुरू कर दी। घटना की जानकारी मिलते ही सदर पुलिस मौके पर पहुंच गई और मामले को शांत किया। उधर, प्रबंधन ने दलील दी है कि संस्था नो प्रॉफिट नो लॉस आधार पर चलाई जा रही है। उन्होंने कहा कि छात्रों की योग्यता के आधार पर ही नौकरियां दी जाती है। लेकिन, कंपनी उन छात्रों को पैसे लौटाने को तैयार है, जिनकी तैयारी मानकों के मुताबिक नहीं है।

छात्रों की आर्थिक स्थिति का भी हवाला देते हुए कंपनी प्रबंधन ने हर संभव सहयोग की बात कही है। कंपनी के बाहर मौजूद रविन्द्र, शीतेष, ललित सहित दजर्नों ट्रेनीज का कहना था कि कंपनी ने टेलीकॉम कंपनियों के लिए जरुरी प्रोसेस में काम दिलाने का वादा किया था, लेकिन उसे पूरा करने में नाकाम रही है।

इस बीच करीब 1500 स्टूडेंट्स को जॉब से पहले 15 दिनों की ट्रेनिंग के नाम पर हजारों रूपये वसूले गए हैं। बावजूद, इसके कंपनी टाल मटोल कर रही है और अचानक उन्होंने किसी को भी नौकरी देने से मना कर दिया है। पुलिस के मुताबिक सिक्योरिटी को लेकर यह विवाद चल रहा था और दोनों पक्षों के बीच यह मामला सुलझ गया है, लेकिन देर शाम तक गेट के बाहर दजर्नों स्टूडेंट्स विरोध करते नजर आए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नौकरी ना मिलने से तंग युवाओं ने तोड़फोड़ की