class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मिडियम लिफ्ट हेलीकॉप्टर संबंधी टेंडर रद्द

भारत की अत्याधुनिक मिडियम लिफ्ट हेलिकाप्टर हासिल करने की योजनाओं को गहरा झटका लगा है। देश की प्रमुख एयरोस्पेस कंपनी हिंदुस्तान एयरोनोटिक्स लिमिटेड ने सशस्त्र बलों के लिए 10 से 12 टन वजन वाले हेलिकॉप्टरों को संयुक्त रूप से विकसित करने के लिए एक वैश्विक सहयोगी चुनने संबंधी टेंडर रद्द कर दिया है।

एचएएल ने असैनिक और सैनिक दोनों बाजारों के लिए संयुक्त रूप से इस हेलीकॉप्टर का विकास करने के लिए भागीदार चुनने के मकसद से टेंडर जारी किए थे और करार के लिए फ्रांसीसी कंपनी यूरोकोप्टर और रशियन मिल को अंतिम सूची में शामिल किया गया था। रक्षा मंत्रालय ने बताया कि टेंडर की प्रक्रिया के दौरान सशस्त्र बलों की अपनी जरूरतों के संबंध में बदलाव किए जाने के कारण टेंडर रद्द कर दिया गया। रूसी एमआई 17 के पुराने डिजाइन वाले हेलिकॉप्टरों के स्थान पर नए हेलीकॉप्टर लाने के लिए एचएएल ने मिडियम लिफ्ट हेलीकॉप्टर विकसित करने की योजना बनायी थी। पुराने डिजाइन वाले हेलीकॉप्टर भारतीय वायुसेना और सेना में कार्यरत थे।
सू़त्रों ने बताया कि संयुक्त विकास कार्यक्रम के तहत एचएएल और चयनित भागीदार द्वारा इस प्रकार के करीब 350 हेलीकॉप्टरों का उत्पादन अगले 10 से 15 साल में किए जाने की योजना थी। जो चरणबद्ध तरीके से एमआई 8 और एमआई 17 का स्थान लेते।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मिडियम लिफ्ट हेलीकॉप्टर संबंधी टेंडर रद्द