class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स की टीम ने किया दौरा, महिला सशक्तीकरण की योजनाओं से इम्प्रेस्ड हुई टीम

 लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स एंड पॉलिटिकल साइंस बिहार में इंटरनेशनल ग्रोथ सेंटर (आईजीसी) का एक केन्द्र बनाएगी। यह केन्द्र बिहार की आर्थिक समृद्धि और इससे जुड़ी विभिन्न समस्याओं पर शोध पत्र तैयार करेगा। स्कूल में इकोनॉमिक्स के प्रोफेसर रॉबिन ब्रजेश कर रहे थे।

वे इंटरनेशनल ग्रोथ सेंटर के को-डाइरेक्टर भी हैं। टीम के सदस्य बिहार में महिला सशक्तीकरण के अलावा सूचना के अधिकार के तहत किए गए राज्य सरकार के कार्य से काफी इम्प्रेस्ड थे।  टीम के सदस्यों ने बताया कि बिहार में उनकी संस्था दस क्षेत्रों में काम करना चाहती है। इनमें व्यापार, आधारभूत संरचना विकास, शहरीकरण, वित्त, कृषि और पर्यावरण आदि शामिल हैं।

श्री बज्रेस ने बताया कि इंटरनेशनल ग्रोथ सेंटर ब्रिटेन के यू के डिपार्टमेंट फॉर इंटरनेशनल डेवलपमेंट के सहयोग से चल रहा है। इसे ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी तथा लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स का पूरा सहयोग मिल रहा है। बिहार में बनने वाला केन्द्र सूबे के आर्थिक विकास तथा उसके मार्ग निर्देशक तत्वों पर भी गंभीरता से विचार करेगा।

उप मुख्यमंत्री ने बिहार में केन्द्र खोलने के निर्णय के लिए टीम को धन्यवाद दिया। श्री मोदी ने उन्हें बताया कि बिहार सरकार ने महिला सशक्तीकरण और विधि व्यवस्था में सुधार का प्रयास किया है। इसके अलावा कृषि के विकास के लिए रोड मैप तैयार कर उसपर अमल भी शुरू कर दिया गया है। कैपिसिटी बिल्डिंग और डिलीवरी सिस्टम को बेहतर करने का भी प्रयास हुआ है।

स्त्री शिक्षा का विकास करने के लिए कई योजनाएं शुरू की गई हैं और भूमि विवादों को हल करने की कोशिश हो रही है। टीम में आईजीसी के कार्यकारी निदेशक गोविन्द ननकानी और ग्रुप को आर्डिनेटर सौम्या गुप्ता के अलावा अन्य लोग थे। उप मुख्यमंत्री से वार्ता के क्रम में वित्त विभाग के प्रधान सचिव नवीन कुमार के अलावा आद्री के निदेशक शैवाल गुप्ता

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आईजीसी का केन्द्र बिहार में खुलेगा