class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो साल में महिंद्रा सत्यम का टेक महिंद्रा में विलय

दो साल में महिंद्रा सत्यम का टेक महिंद्रा में विलय

महिंद्रा सत्यम का महिंद्रा समूह की सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी टेक महिंद्रा में अगले दो वर्षों के भीतर विलय हो जाएगा। इन दोनों कंपनियों के उपाध्यक्ष विनीत नायर ने कहा है कि इसमें एक से सवा साल का समय लग सकता है।

नायर ने महिंद्रा सत्यम के मुख्य कार्यकारी अधिकारी की नियुक्ति की घोषण के लिए बुलाई गई पत्रकार वार्ता में कहा था कि देश की प्रमुख सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी बनने के लिए इन दोनों कपंनियों का विलय तार्किक होगा। उन्होंने कहा था कि वह इन दोनों कंपनियों का विलय चाहते हैं।

महिंद्रा समूह ने सत्यम कंप्यूटर सर्विसेज लिमिटेड का नाम बदलकर महिंद्रा सत्यम कर दिया है। ब्रिटेन के बीटी समूह की 31 प्रतिशत हिस्सेदारी वाली कंपनी टेक महिंद्रा ने घोटाले में फंसी सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी सत्यम कंप्यूटर सर्विसेस लिमिटेड को बेचने के लिए सरकार द्वारा की गई नीलामी में सबसे अधिक बोली लगाकर उसके स्वामित्व के उद्देश्य से हिस्सेदारी ली थी। नीलामी में टेक महिंद्रा ने सत्यम की 31 प्रतिशत हिस्सेदारी ली थी और 20 प्रतिशत हिस्सेदारी उसे खुली पेशकश से लेनी थी।
 

सत्यम के संस्थापक बी रामलिंगा राजू ने गत जनवरी में कंपनी में घोटाले का खुलासा कर भारत के साथ पूरी दुनिया को चौंका दिया था। सत्यम देश की चौथी सबसे बड़ी सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी रह चुकी है लेकिन इस घोटाले के खुलासे के बाद उसकीस्थिति काफी खराब हो गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दो साल में महिंद्रा सत्यम का टेक महिंद्रा में विलय