class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तोहफे ने बदली जिंदगी

तोहफे ने बदली जिंदगी

गरीब परिवार में पली मारिया के मां-बाप येलना व यूरी हैं। दो वर्ष की थी तो परिवार को परमाणु दुर्घटना के कारण प. साइबेरिया से यकायक बेलारूस जाना पड़ा। काम के सिलसिले में पिता यूरी परिवार को लेकर सोची के ब्लैक सी टाउन में ले आए। येवेग्ने कैफलनीकोव के पिता अपने परिवार के साथ उनके पड़ोस में थे। येवेग्नर व मारिया के पिता आपस में टेनिस खेलते थे। नन्ही मारिया उनके खेल को निहारते उनको टेनिस गेंदें पकड़ाती थी।

मारिया को उसके चौथे बर्थ-डे पर येवग्ने के पिता ने अपने बेटे का एक पुराना रैकिट (डनलप) गिफ्ट में दिया। पुराने रैकेट को पाकर मारिया खुशी से झूमने लगी। इस गिफ्ट ने उसकी जिंदगी बदल दी। जब भी मौका मिलता मारिया अपने घर की दीवारों को टेनिस गेंदों से हिट करती रहती थी।


अपनी पुत्री मारिया के खेल लगाव को देखकर पिता यूरी ने उसे 6 वर्ष की उम्र में टेनिस-क्लीनिक में भेज दिया। लगन से मारिया वहां टेनिस सीखने लगी।  कुछ समय बाद क्लीनिक में चैंपियन मार्टिना नवरातिलोवा बच्चों को टिप्स देने पहुंचीं। नन्ही मारिया का खेल उसे भा गया। मारिया के मां-बाप को सलाह दी कि वह अपनी बेटी को फ्लोरिडा में निक बोलिटीएरी टेनिस एकादमी में दाखिला दिलाएं, उसका खेल विश्व स्तरीय हो जाएगा।


मार्टिना के सुझाव से यूरी इतने प्रभावित हुए कि आर्थिक तंगी के बावजूद फ्लोरिडा जाने का निर्णय कर लिया। उधार के 700 डॉलर लेकर वह नन्ही मारिया के साथ फ्लोरिडा पहुंच गए। अकादमी मारिया के खेल से प्रभावित थी, लेकिन अधिकारियों ने बताया कि उम्र छोटी होने के कारण एडमीशन के लिए उसे दो वर्ष इंतजार करना होगा। यूरी ने हर प्रकार की मजदूरी कर मारिया को खेल सिखाने के लिए पब्लिक कोर्ट टेनिस में प्रवेश दिलाया।


अंतत दो वर्ष बाद मारिया शारापोवा को बोलिटीएरी अकादमी में दाखिला मिल गया। दृढ-संकल्प से वह टेनिस प्रवीणता में जुट गई। वीजा संबंधी  दिक्कतों से मारिया को बचपन में अपनी मां से कई साल दूर रहना पड़ा। लेकिन पिता यूरी ने मारिया की हर खुशी व इच्छा को पूरी करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। बोलिटीएरी अकादमी में मारिया ने टेनिस के हर गुर को समझा। फिजीकल फिटनेस पर पूरा ध्यान दिया। मेहनत रंग लाई और कुछ वर्षो में मारिया शारापोवा अंतरराष्ट्रीय टेनिस में शिखर पर जा पहुंचीं। 2004 में विंबलडन सफलता के बाद उसकी कहानी से सब परिचित हैं।

मारिया शारापोवा के बारे में कुछ विशेष
मारिया की चाहत पहला प्यार- टेनिस और टेनिस
दूसरा प्यार शर्लक होम्स के जासूसी उपन्यास तथा पिप्पी लांगरपैकिंग सीरिज
अनुबंध फोर्ब्स पत्रिका के अनुसार, अनुबंधों के हिसाब से मारिया शारापोवा सर्वाधिक धन कमाने वाली महिला खिलाड़ी हैं। इस समय उनका कमाई 2.2 करोडम् डॉलर प्रति वर्ष है। पेप्सी ने जरूर उससे हाल में करार समाप्त किया है। लेकिन मारिया के पास अब भी कैनन, नाइके, कॉलगेट, लैंड रोवर, प्रिंस सोनी, एरिकसन, हैग, ट्रापिकाना व ह्युएर  वॉच आदि के विज्ञापन अनुबंध हैं। यूं भी कैरियर कमाई में वह अव्वल आने में थोड़ी ही पीछे हैं।                       मारिया शारापोवा और टेनिस
जन्मतिथि/स्थल 19 अप्रैल, 1987/ न्यगन (साइबेरिया, रूस)
कद/वजन  6 फुट 2 इंच/59 किलो
प्रोफेशनल टेनिस की शुरुआत :अप्रैल, 2001
टेनिस स्टाइल  राइट हैंड, टू हैडिड बैकहैंड
करियर खिताब 11 एकल खिताब
एकल रिकॉर्ड (मैच)  जीत-305, हार-70
उच्चतम रैंकिंग  एकल-1 (22 अगस्त, 2005)
युगल रिकॉर्ड जीत-27, हार-17
उच्चतम रैंकिंग  युगल-41
ग्रैंड स्लैम प्रदर्शन (एकल) : आस्ट्रेलियाई ओपन-विजेता (2008)
फ्रेंच ओपन सेमिफाइनल (2007)
विंबलडन  विजेता (2004)
अमेरिकी ओपन  विजेता (2005)
करियर कमाई  12171281 डॉलर

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तोहफे ने बदली जिंदगी