class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अपराध की बढ़ती घटना पर सर्वदलीय बैठक की मांग

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) ने बिहार में अपराध की बढ़ती घटना पर चिंता व्यक्त करते हुए राज्य सरकार से आम लोगों के जानमाल की सुरक्षा के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाने की मांग की है।


भाकपा के राज्य सचिव बद्रीनारायण लाल ने कहा कि राज्य में हत्या लूट और अपहरण की घटनाओं में हाल के दिनों में काफी वृद्धि हुई है। यह सब के लिए गंभीर चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि अपराध की इन्हीं घटनाओं के विरोध में बिहार में 20 हजार अभियंता कलम बंद हड़ताल पर है जबकि अधिवक्ताओं ने कल से दो दिनों तक न्यायिक कार्यों से अपने को अलग रखने का फैसला लिया है।


लाल ने कहा कि राज्य में एक बार फिर अपहरण और रंगदारी का व्यवसाय जोर पकड़ ने लगा है। अपराधी खास कर अभियंता और अधिवक्ता जैसे बुद्धिजीवियों को अपना निशाना बना रहे है। उन्होंने कहा कि बिहार में कानून व्यवस्था की स्थिति का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि जब माओवादियों के बंद के आह्वान के मद्देनजर पुलिस और प्रशासन चौकन्नी थी। तब उग्रवादियों ने कल दिन दहाड़े लखीसराय अदालत तथा समाहरणालय पर हमला कर होमगार्ड के एक जवान की हत्या कर दी और एक कट्टर उग्रवादी को कोर्ट हाजत से छुड़ा लिया। साथ ही सुरक्षाकर्मियों से दो राइफल और एक कारबाईन भी लूट लिया। 


भाकपा नेता ने कहा कि नीतीश सरकार अपराधियों और उग्रवादियों को नियंत्रित करने में पूरी तरह विफल रही है। इससे ऐसा लगता है कि साधारी दल और पुलिस की अपराधियों के साथ सांठगांठ है। उन्होंने कहा कि सरकार को चाहिए कि वह तुरंत सर्वदलीय बैठक बुलाए और राज्य की बिगड़ती विधि व्यवस्था पर विचार कर आम लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करे। उन्होंने कहा कि आम जनता से भी राज्य सरकार की विफलताओं के खिलाफ आवाज बुलंद करने और आंदोलन शुरू करने की अपील की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अपराध की बढ़ती घटना पर सर्वदलीय बैठक की मांग