class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वर्ल्ड बॉक्सिंग सीरीज में फ्रेंचाइजी बना भारत

वर्ल्ड बॉक्सिंग सीरीज में फ्रेंचाइजी बना भारत

भारतीय मुक्केबाजी के इतिहास में एक नया अध्याय जुड़ गया जब उसे अगले साल सितंबर में होने वाली बहुचर्चित विश्व मुक्केबाजी सीरीज की चार एशियाई फ्रेंचाइजी में चुन लिया गया।

विश्व मुक्केबाजी सीरीज के मुख्य संचालन अधिकारी इवान खुदाबख्श ने स्विट्जरलैंड के लुसाने स्थित अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ (एबा) को दिये इंटरव्यू में कहा कि भारत एबा द्वारा चुनी गई आठ फ्रेंचाइजी टीमों में से है। एबा के खेल निदेशक खुदाबख्श ने कहा कि चार और फ्रेंचाइजी का चयन होना बाकी है जिसके लिये मैं अमेरिका जाऊंगा। जुलाई तक पूरी प्रक्रिया संपन्न हो जायेगी और चुनी गई फ्रेंचाइजी का खुलासा भी हो जायेगा। उन्होंने भारत के लिये फ्रेंचाइजी पाने वाले कार्पोरेट समूह का खुलासा करने से इंकार कर दिया। उन्होंने बाकी तीन एशियाई फ्रेंचाइजी का भी खुलासा नहीं किया।
 
एक करोड़ डालर ईनामी राशि की इस सीरीज में एशिया, अमेरिका और यूरोप के 12 शहरों की फ्रेंचाइजी टीमें हिस्सा लेंगी। हर टीम में कम से कम 10 मुक्केबाज होंगे जिसमें तीन विदेशी हो सकते हैं। खुदाबख्श ने कहा कि हम फ्रेंचाइजी के साथ करार के नियम और शर्तें तय कर रहे हैं। फिलहाल कोई खुलासा नहीं किया जा सकता है। सारी औपचारिकतायें पूरी होने पर हम इसका ऐलान करेंगे ।

मुक्केबाजों का अनुबंध पहले तीन साल के लिये होगा और हर जीत पर बोनस के अलावा उन्हें तनख्वाह मिलेगी। करार 30000 से 300000 डालर तक होगा। एबा ने सौ मुक्केबाजों का चयन किया है और फ्रेंचाइजी मिलान में इस साल होने वाली विश्व चैम्पियनशिप के जरिये अपनी अपनी टीमें चुनेंगी। खुदाबख्श ने कहा कि इन सौ मुक्केबाजों में भारतीय भी हैं। एबा उनके नाम जल्दी ही भारतीय मुक्केबाजी महासंघ को देगा। यह पूल जल्दी ही 200 मुक्केबाजों का किया जायेगा ताकि प्रमुख मुक्केबाजों के नहीं होने पर भी फ्रेंचाइजी के पास विकल्प रहें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वर्ल्ड बॉक्सिंग सीरीज में फ्रेंचाइजी बना भारत