class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

143 अमेरिकी कंपनियों पर भारतीयों का कब्जा

143 अमेरिकी कंपनियों पर भारतीयों का कब्जा

भारतीय कंपनियों ने पिछले दो साल के दौरान अमेरिका के विभिन्न सेक्टरों की 143 कंपनियों का अधिग्रहण किया। इनमें से कई कंपनियों को बंद होने से बचाते हुए करीब 30 हजार नौकरियां पैदा की।

फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) और अर्नस्ट एंड यंग के संयुक्त अध्ययन के मुताबिक अकेले वर्ष 2007-08 के दौरान 80 लाख डॉलर से लेकर 100.5 करोड़ डॉलर के बीच 94 सौदे हुए। इनमें से 55 सौदों की कुल घोषित कीमत 443.2 करोड़ डॉलर थी।

वर्ष 2008-09 के दौरान भारतीय कंपनियों ने 49 अमेरिकी कंपनियों में हिस्सेदारी खरीदी। इन सौदों में 24 की कुल घोषित कीमत 96 करोड़ डॉलर थी। अमेरिका में भारत की राजदूत मीरा शंकर ने इस अध्ययन ‘इंडिया कंट्रीब्यूट्स टू इम्प्लायमेंट, कैपिटल ग्रोथ एंड टैक्स रेवेन्यूज इन यूस- डायरेक्ट इंवेस्टमेंट बाई इंडियन कंपनीज इन 2007-08’ को एक समारोह में मंगलवार को यहां जारी किया।

इस मौके पर शंकर ने कहा कि हाल के वर्षों में भारत-अमेरिका के संबंधों में काफी बदलाव आया है। फिक्की के अध्यक्ष हर्ष पति सिंघानिया और महासचिव डा. अमित मित्रा ने भी दोनों देशों के बीच आर्थिक गठजोड़ का उल्लेख करते हुए कहा कि भविष्य में काफी संभावनाएं हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:143 अमेरिकी कंपनियों पर भारतीयों का कब्जा