class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एसएसपी के आदेश पर दर्ज हुआ मामला

बेगुनाहों को फर्जी मामलों में फंसा कर हवालात का रास्ता दिखाने वाली नोएडा पुलिस की एक नई बानगी सामने आई है। हत्या जैसे गंभीर अपराध की जानकारी होने के बाद की अफसरों ने एक महीने तक चुप्पी साधे रखी और मानवीय संवेदनाओं की दुहाई देते रहे।

‘हिन्दुस्तान’ में छपी खबर के बाद एसएसपी की फटकार मिलने पर हरकत में आई कोतवाली सेक्टर 58 पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। 20 मई को कोतवाली सेक्टर 58 क्षेत्र में सेक्टर 122 श्रमिक कुंज के सी ब्लाक में बबलू कुमार की पत्नी पूजा (26) की पंखे से लटकते हुए लाश पाई गई थी।

पीएम रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ था कि पूजा की गला दबाकर हत्या की गई है। हत्या जैसे संगीन अपराध की जानकारी एसपी सिटी ए.के. त्रिपाठी और सीओ सेकेंड शैलेंद्र लाल को होने के बाद भी उक्त अफसरों ने हत्या का मुकदमा दर्ज करने से बचते रहे। पूछे जाने पर उक्त अधिकारी मानवीयता की दुहाई देते रहे।

एसपी सिटी ने तो पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर ही सवाल खड़ा कर दिया था। उनका तर्क था कि पीएम रिपोर्ट को आधिकारिक साक्ष्य नहीं माना जा सकता। घटना एसएसपी के संज्ञान में आने पर जब फटकार पड़ी तो कोतवाली सेक्टर 58 पुलिस देर रात हत्या का मामला दर्ज कर लिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पूजा की हत्या का मामला आखिर दर्ज