class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो टूक

दिल्ली का बजट इस बार दिल्ली का बजट नहीं है। वह कुल जमा राष्ट्रमंडल खेलों के आयोजन का लेखा जोखा है। मेट्रो के 11 रूट पूरे होने वाले हैं, 1500 लो फ्लोर बसें खरीदने की तैयारी है, परिवहन पर खर्च होने वाले 31.5 फीसदी संसाधनों को भी आप इसी मद में मानिए।

लगता है जसे पूरा जवाहरलाल नेहरू शहरी पुन:नवीकरण मिशन राष्ट्रमंडल खेलों के आयोजन के लिए ही हो। होगा भी, इस साल दिल्ली का सबसे बड़ा आयोजन जो यही है। लेकिन बजट की कईं अच्छी, खराब बातें इसकी चकाचौंध में दब गई हैं। मसलन आपके फेफड़ों के लिए एक अच्छी खबर- पिछले दो साल में दिल्ली में 16 सिटी फारेस्ट बनाए गए हैं, अब आठ और बन रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दो टूक