class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सारी सब्सिडी नकदी में चाहता है उर्वरक मंत्रालय

उर्वरक मंत्रालय ने 2009—10 के दौरान सब्सिडी की सारी राशि नकद में देने की मांग की है। उसका कहना है कि उद्योग जगत शायद प्रतिभूतियों के रूप में बांड लेना पसंद न करे, क्योंकि अभी पिछले साल के बांड ही भुनाए नहीं जा सके हैं। 


       वित्त मंत्रालय को सौंपे गए बजट पूर्व ज्ञापन में उर्वरक मंत्रालय ने कहा है कि शायद उर्वरक कंपनियां बांड स्वीकार न करे। उर्वरक सचिव अतुल चतुर्वेदी ने कहा, हमने कहा है कि जो भी सब्सिडी हो, उसके लिए हमें पैसा मिलना चाहिए। हमें बांड नहीं चाहिए, नकदी चाहिए। उद्योग और बांड स्वीकार करने की स्थिति में नहीं है, क्योंकि अभी पिछले साल के बांडों को ही नहीं भुनाया जा सकता है। मंत्रालय की यह मांग उर्वरक उद्योग की मांग के अनुरूप है। उद्योग का कहना है कि पहले जारी उर्वरक बांड इस समय डिस्काउंट पर बिक रहे हैं जिससे कंपनियों के लेखा जोखा पर असर पड़ रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सारी सब्सिडी नकदी में चाहता है उर्वरक मंत्रालय