class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

माओवादी समस्या का राजनीतिक समाधान हो

अखिल भारतीय फारवर्ड ब्लाक ने सोमवार को कहा कि वाम उग्रवाद और माओवादी आंदोलन को महज कानून और व्यवस्था की समस्या के रूप में नहीं बल्कि आर्थिक सामाजिक समस्या के रूप में देखा जाना चाहिए और इसका समाधान राजनीतिक तौर पर किया जाना चाहिए। 


पार्टी के महासचिव देवव्रत विश्वास की ओर से जारी एक प्रेस वक्तव्य में कहा गया है कि माओवादी और वाम उग्रवादी संगठनों पर प्रतिबंध लगाने से आदिवासियों और दलितों की ओर से उठाए जाने वाले मसलों का समाधान नहीं होगा। पार्टी ने कहा कि मुख्य धारा की वामपंथी पार्टियों को इस बात के लिए कोशिश करनी होगी कि गुमराह लोगों को समाज की मुख्य धारा में वापस लाया जाए और सामाजिक आथिर्र्क समस्याओं के समाधान के लिए जनआंदोलन चलाया जाए। 


 उन्होंने कहा है कि पार्टी की केन्द्रीय समिति कोलकाता में 11 से 13 जुलाई के बीच बैठक करके राजनीतिक एवं संगठनात्मक मुद्दों के अलावा माओवादियों पर प्रतिबंध लगाने के केन्द्र सरकार के कदम के बारे में विचार करेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:माओवादी समस्या का राजनीतिक समाधान हो